Connect with us

ऑटोमोबाइल

3 मिनट में दौड़ती कार बन गई हवाई जहाज, ऐसी होगी दुनिया की पहली फ्लाइंग कार

Published

on

वर्तमान में तकनीकी जिस तेजी से आगे बढ़ रही है उसको देखकर हर किसी के कान खड़े होना लाजमी है। अब कल को आपसे कोई कहे कि उड़ने वाली कारें भी होती है तो चौंकने की बात नहीं है।

हां, फिलहाल के लिए आप हैरान हो सकते हैं लेकिन आने वाले समय में शायद यह आम बात होगी क्योंकि हाल में एक एयरकार ने आसमान में उड़कर कार के हवा में उड़ने का सपना साकार किया।

35 मिनट में उड़कर दूसरे शहर पहुंची कार

आविष्कारक प्रोफेसर स्टीफन क्लेन की बनाई यह कार पेट्रोल पर ही चलती है। क्‍लेन विजन कंपनी की इस एयरकार का बीते 28 जून को स्‍लोवाकिया के दो अंतरराष्‍ट्रीय हवाईअड्डों नाइट्रा और ब्रातिस्‍लावा से परीक्षण किया गया।

3 मिनट में कार से बन गई हवाई जहाज

इस कार में ड्यूल मोड सिस्टम लगाया गया है जो एक बटन दबाते ही कार को हवाई जहाज में बदल देता है। परीक्षण के दौरान एक बटन दबाते ही 3 मिनट में कार से हवाई जहाज बन जाता है। बटन दबाते ही यह कार 30 सेकेंड में टेकऑफ कर आसमान में उड़ान भर लेती है।

तेज स्पीड में ले सकती है 45 डिग्री पर मोड़

कार के परीक्षण के दौरान यह 40 घंटे हवा में बिता चुका है। वहीं तेज स्पीड में यह कार 45 डिग्री के साथ हवा में मोड़ भी ले सकती है।

दो तरह के डिजाइन में तैयार हुई कार

फिलहाल कार के दो डिजाइन तैयार किए गए हैं जिसमें पहले में 1160-हॉर्सपावर बीएमडब्ल्यू का इंजन लगा है वहीं दूसरे डिजाइन में 300-hp का इंजन लगा है। कार पहले ही 8,200 फीट तक की उड़ान भर चुकी है और 118 मील प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड को पकड़ लिया है।

वहीं दूसरे डिजाइन 621 मील (1,000 किमी) की सीमा के साथ 186 मील प्रति घंटे (300 किमी / घंटा) की स्पीड से चल सकती है।

नए दौर के वाहनों का सपना होगा सच

आपको बता दें कि इस तकनीक की मदद से कारों के उड़ने का सपना सच होगा। वहीं इस कार में 200  किलो के वजन के साथ 2 लोग सवार भी हो सकते हैं। कार को हवा में 300 किमी प्रति घंटे और एक बार में टैंक फुल होने के बाद 1,000 किमी तक उड़ाया जा सकता है।

   
    >