Connect with us

बिहार

बिहार के हेडमास्टर का कमाल, बना डाली हवाई जहाज वाली लाइब्रेरी और दी शिक्षा को नई उड़ान

Published

on

bihar aeroplane library

संस्कारों से हिम्मत मिलती,
शिक्षा से ज्ञान जगता है।
जज्बा हो मन में कुछ करने का,
तो स्कूल भी परिवार सा लगता है।

दोस्तों नमस्कार।

दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसी शख्सियत से रूबरू करवा रहा हूं। जिसने अपने खर्चे पर पूरे राज्य में एक नया आयाम स्थापित किया है। शिक्षा को एक नई दिशा दी है। स्कूल को अपने परिवार से भी ज्यादा तरजीह दी है।

यह कारनामा बिहार राज्य (Bihar State) के एक स्कूल हेडमास्टर ने किया है। जिन्होंने स्कूल के अंदर, स्कूल की छत पर एक हवाई जहाज नुमा पुस्तकालय (Aeroplane Theme Based Library) बनाया है। जिसमें स्मार्ट क्लास (Smart Class) भी चलती है। उस का नाम उन्होंने “शिक्षा उड़ान (Shiksha Udaan)” दिया है।

स्कूल के हेडमास्टर (Headmaster) क्या कहते हैं।
***************************

बिहार में समस्तीपुर (Samstipur) जिले के मोहिउद्दीन नगर स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय सेवीसिंहपुर के हेडमास्टर मेघन सहनी आज पूरे राज्य में चर्चा का विषय बने हुए हैं। उन्होंने बताया कि कुछ स्कूलों में शिक्षा एक्सप्रेस तथा कुछ में  आर्किटेक देखकर मुझ में भी कुछ करने की इच्छा शक्ति जगी।

सरकारी स्कूलों में इस प्रकार की व्यवस्था नहीं होने के कारण मैंने मेरे निजी कोष से ही कुछ करने की ठानी, और आज हवाई जहाज नुमा “शिक्षा उड़ान” उर्फ पुस्तकालय बनकर तैयार हो गया है। बच्चों को आकर्षित करने के लिए हम ने यह कदम उठाया। इस कार्य को करने में मेरा लगभग दो लाख से ऊपर खर्च हो गए हैं। स्कूल भवन जो जर्जर अवस्था में था, आज वह एक नई अवस्था में नजर आ रहा है।एक सपने जैसी अनुभूति हो रही है।

शिक्षा उड़ान व पुस्तकालय।
***********************

अगर इंसान में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो और उड़ने की चाहत हो तो, वह इस प्रकार के मुकाम हासिल कर लेता है। इस प्रकार की कहावत को चरितार्थ करते हुए आज यह स्कूल पूरे बिहार में चर्चा का विषय बना हुआ है।

स्कूल के हेड मास्टर ने स्कूल की छत के ऊपर एक हवाई जहाज नुमा, उसी की आकृति के अनुसार एक स्मार्ट क्लास उर्फ पुस्तकालय का निर्माण करवाया है, जिसके अंदर बैठकर हवाई जहाज जैसी अनुभूति होती है। इसके अंदर बैठकर स्मार्ट क्लास के माध्यम से बच्चे पढ़ाई कर सकते हैं। और पुस्तकालय आनंद ले सकते हैं।

पुस्तकालय का उद्घाटन।
*********************

उत्क्रमित मध्य विद्यालय शिवेसिंहपुरा में बने इस “शिक्षा उड़ान” पुस्तकालय का स्थानीय विधायक ने फीता काटकर उद्घाटन किया। उस समय स्थानीय विधायक ने अपने उद्बोधन में कहा कि इससे लोगों को एक नई प्रेरणा मिलेगी व बच्चों का सरकारी स्कूलों की तरफ रुझान बढ़ेगा। इस तरह के कार्यक्रम करना शिक्षा को एक नई दिशा देना है।

अन्य।
*******

इस” शिक्षा उड़ान “हवाई जहाज के अंदर सीढियां लगाई गई है। टायर भी दर्शाए गए हैं। इसके अंदर रोशनी की भी वैसे ही व्यवस्था की गई है, जिस प्रकार हवाई जहाज के अंदर होती है।

अपने विचार।
*******†**

अपना तो हर कोई कहता है,
लेकिन बनाना मुश्किल है।
जो अपना बना लेता है,
उसके लिए संभव हर मंजिल है।

विद्याधर तेतरवाल,
मोतीसर।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent Posts

   
    >