बिहार के NSG कमांडो मोहित ने लगा डाला चाय का अड्डा, जानें!! क्यों कमांडो ठेला लगा बेच रहे चाय

बिहार (Bihar) से आजकल सोशल मीडिया पर चाय की दुकान को लेकर लगातार खबरें वायरल हो रही है। पिछले कुछ दिनों से बिहार के पटना, आरा सहित विभिन्न जिलों से चाय की दुकान को लेकर खबरें वायरल है। पटना (Patna) में ग्रेजुएट चाय वाली (Gradudate Chai Wali) की चर्चा खुब हो रहीं है।

लेकिन बिहार (Bihar) के गोपालगंज (Gopalganj) जिले में एक नौकरी में रहते हुए एनएसजी कमांडो मोहित चाय (NSG Commando Mohit Chai Wala) बेच रहे है। शहर के समाहर्ता परिसर के सामने अपने ठेले पर कमांडो चाय अड्डा (Commando Chai Adda) लिखवाकर वों चाय की दुकान चला रहे है।

यह भी पढ़ें!! बिहार की ग्रेजुएट चाय वाली की कहानी, एक बार पढोगे तो हो जाओगे खुश

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि मोहित बीएसएफ (BSF) के जवान के साथ ही एनएसजी कमांडो भी है। मोहित आज भी नौकरी में है और इन दिनों छुट्टी पर घर आए है। मोतिहारी (Motihari) जिले के रामगढ़वा (Ramgadhwa) थाना क्षेत्र के रहने वाले मोहित पिछले कुछ दिनों से से गोपालगंज कचहरी के पास मसालेदार चाय की दुकान चला रहे है और लोगों की खुब भीड़ हो रही है। मोहित के चाय की दुकान चलाने के पीछे एक उद्देश्य है।

बेरोजगार युवकों को संदेश देना चाहते हैं मोहित

कमांडो मोहित चालीस दिन की छुट्टी पर घर आये है। मोहित के अनुसार उनके पिता भी बीएसएफ में थें। 1996 में उनकी मृत्यु हो गई और उनके जगह पर अनुकंपा के आधार पर मेरी नौकरी 2014 में हुई। फिलहाल मोहित दिल्ली में एनएसजी कमांडो के तौर पर कार्यरत है।

छुट्टियों में वो गोपालगंज में चाय की दुकान चलाकर यें संदेश देना चाहते हैं कि कोई धंधा छोटा या बड़ा नही होता है। बेरोजगार युवकों को प्रेरित करने के लिए मोहित कमांडो चाय अड्डा की दुकान चला रहे है। उनका मानना है कि छोटे से काम से स्टार्टअप कर सकते है। अगर किसी भी काम को मन लगाकर किया जाये तो छोटी शुरुआत से बड़ा किया जा सकता है। मोहित के इस प्रयास के लिए हर तरफ तारीफ हो रही है।

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि