Connect with us

बिहार

बिहार के लड़के ने निकाली गूगल की ऐसे गलती कि अब मिलेंगे लाखों रूपए, रिसर्च टीम में हुआ शामिल

Published

on

rituraj-google-boy-story

बिहार | बिहार के ऋतुराज (Rituraj) ने तो कमाल कर दिखाया। ऋतुराज ने दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन यानी कि गूगल में एक गलती निकाली है। जिसे गूगल ने मान भी लिया है। इतना ही नहीं गूगल ने अपनी गलती मानने के साथ-साथ ऋतुराज को अपने रिसर्च में भी शामिल किया है।

दरअसल बेगूसराय के रहने वाले ऋतुराज चौधरी ने गूगल की सिक्योरिटी में एक बग निकाला। जिसकी जानकारी ऋतुराज ने कंपनी को मेल कर के दी।जिसके कुछ दिनों बाद गूगल की ओर से ऋतुराज को उनके मेल की प्रतिक्रिया मिली। जिसमें कंपनी ने अपने सिस्टम की कमी को स्वीकार कर ऋतुराज का धन्यवाद किया। इतना ही नहीं बल्कि गूगल ने बताया कि, उन्होंने ऋतुराज को अपनी रिसर्च लिस्ट में शामिल कर लिया है।

साइबर सिक्योरिटी में बनाना चाहते हैं ऋतुराज अपना करियर

ऋतुराज चौधरी बेगूसराय के मुंगेली गंज के रहने वाले हैं। वह IIT मणिपुर से B.Tech सेकेंड ईयर की पढ़ाई कर रहे हैं। उनके पिता एक ज्वैलर हैं। उनके पिता का नाम राकेश चौधरी है। मीडिया से बात करते समय ऋतुराज ने बताया कि वह साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में अपना फ्यूचर देखते हैं।

ऋतुराज को गूगल देगा इनाम

ऋतुराज की इस कामयाबी पर सभी खुश है। ऋतुराज के घरवाले बताते हैं कि, वह बचपन से ही बहुत चंचल थे उनकी दिलचस्पी पढ़ाई में बिल्कुल भी नहीं थी। जिसकी वजह से उन्हें पढ़ने के लिए कोटा भेजा गया लेकिन वहां पर भी 2 सालों तक कुछ नहीं हो पाया।

लेकिन अब इनकी कामयाबी ने सबका सर गर्व से ऊंचा कर दिया। जानकारी के लिए बता दें कि ऋतुराज को उनके कार्य के लिए उन्हें गूगल द्वारा इनाम तथा कुछ धनराशि भी दी जाएगी।

गूगल खुद अपने सर्च इंजन में गलती निकालने का न्यौता

वैसे तो गूगल दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन में से एक है, लेकिन गूगल अक्सर अपने सर्च इंजन में कमी ढूंढने वालों को इनाम देकर सम्मानित करता है। देश-विदेश से कई रिसर्चर बग हंट पर काम करते हैं। हर बग हंटर P-5 से अपनी शुरुआत करता है और उन्हें P-0 के लेवल तक लेकर आता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >