पहले प्रयास में 10वी रैंक हासिल करने वाले सत्यम चौधरी ने कठिन परिश्रम से पाया यह मुकाम!

आज हम आपको कहानी बताएगे बिहार (Bihar) के रहने वाले सत्यम चौधरी गांधी (Satyam Choudhary IAS Story) की। सत्यम ने साल 2019 में यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा में अपने पहले ही प्रयास में आल इंडिया में 10वी रैंक हासिल करके इस कठिन परीक्षा को पास किया था। यूपीएससी की परीक्षा हिंदुस्तान की सबसे कठिन परीक्षा है, उसके बावजूद सत्यम ने अपने पहले प्रयास में कमाल कर दिखाया है।

ग्रेजुएशन के दौरान शुरू की तैयारी

समस्तीपुर (Samastipur) ,बिहार के रहने वाले सत्यम गांधी (Satyam Gandhi) ने अपने ग्रेजुएशन के दौरान से ही तैयारी करना शुरू कर दिया था। वह हर रोज 12-13 घण्टे पढ़ते थे। तैयारी की शुरुआत से ही उन्होंने जनरल स्टडीज पर ध्यान करना शुरू कर दिया था।

खुद के नोट्स से की तैयारी

सत्यम गांधी ने बुक्स के अलावा खुद के नोट्स तैयारी की थी। उन्हीने मॉक टेस्ट पर भी पूरा ध्यान दिया। सत्यम ने लगभग से 120 या ज्यादा ही मॉक टेस्ट दिए। मॉक टेस्ट देने के पीछे सत्यम कहते है कि उसे देने हमे अपनी तैयारी का पता चलता है।

पॉलिटिक्स में ध्यान देना जरूरी

सत्यम गांधी कहते है कि तैयारी के लिए घर पर नोट्स बनाना जरूरी है। उन्होंने खुद भी ऑनलाइन उपलब्ध कोचिंग प्लेटफॉर्म्स से मदद ली थी। सत्यम गांधी यह भी कहते है कि प्री परीक्षा के लिए इकोनॉमिक्स, पॉलिटिक्स,हिस्ट्री में ध्यान देना बहुत जरूरी हैं। सत्यम कहते है कि करंट अफेयर्स भी बहुत ज्यादा जरूरी है। (Satyam Choudhary IAS Story)

यह भी पढ़ें- बिहार की बेटी दिव्या शक्ति ऐसे बनी UPSC टॉपर, ये टिप्स आपके लिए भी हो सकती हैं काम की!

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि