Connect with us

क्रिकेट

हर मिनट में इतने लाख रूपए कमाते है भारतीय खिलाडी जानें!! सबकी कमाई, BCCI देता है करोड़ों रूपए

Published

on

आज हम आपको बताएंगे भारतीय टीम के क्रिकेट खिलाड़ी कितना पैसा क्रिकेट से कमाते हैं। हम सभी जानते हैं कि भारत का क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीसीआई दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है। लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि भारत के किस खिलाड़ी को कितना पैसा मिलता है। भारत कि पुरुष क्रिकेट टीम 4 तरह के कॉन्ट्रैक्ट करती है। बीसीसीआई के इस कॉन्ट्रैक्ट को 4 ग्रेड में बांटा गया है।

जिसमें A+, A, B और C चार तरह के कॉन्ट्रैक्ट शामिल है। A+ में आने वाले खिलाड़ियों को बीसीसीआई हर साल 7 करोड रुपए देता है। साथ ही A ग्रेड में आने वाले खिलाड़ियों को 5 करोड़ और B ग्रेड में आने वाले खिलाड़ियों को 3 करोड़ रुपए सालाना मिलते हैं। साथ ही C ग्रेड में आने वाले खिलाड़ियों को सालाना 1 करोड रुपए बीसीसीआई कॉन्ट्रैक्ट के तौर पर देता है।

यह खिलाड़ी है इस ग्रेड में

आपको बताएं A+ में भारतीय टीम के केवल 3 खिलाड़ी शामिल हैं जिसमें कप्तान विराट कोहली के साथ रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह शामिल है।
साथी A ग्रेड में आने वाले खिलाड़ियों में शिखर धवन, रविंद्र जडेजा,रवि अश्विन,अजिंक्य रहाणे,चेतेश्वर पुजारा के एल राहुल,ऋषभ पंत आदि शामिल है। B ग्रेड में आने वाले खिलाड़ियों में रिद्धिमान साहा, तेज गेंदबाज उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, शार्दुल ठाकुर, मयंक अग्रवाल के साथ कई अन्य खिलाड़ी भी है। C ग्रेड में स्पिनर कुलदीप यादव, नवदीप सैनी, शुभ्मन गिल, अक्षर पटेल और श्रेयस अय्यर समेत कई अन्य खिलाड़ी भी शामिल है।

मैच खेले या न खेले मिलता है पैसा

ग्रेड सिस्टम के अलावा बीसीसीआई खिलाड़ियों को कई अन्य तरीके से भी पैसा देता है। लेकिन उससे पहले आपको बताएं कॉन्ट्रैक्ट में आने वाले खिलाड़ियों को कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक तो पैसा मिलता है। लेकिन अगर कोई खिलाड़ी पूरे साल में एक भी मैच नहीं खेलता तो कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक उसको उतना ही पैसा मिलता है। यानी A कैटेगरी में आने वाले खिलाड़ी अगर एक भी मैच नहीं खेले तो उसे सालाना बीसीसीआई 5 करोड़ रुपये तो देता है। इसके अलावा कॉन्ट्रैक्ट की राशि के अलावा भी बीसीसीआई मैच फीस के तौर पर भी अपने प्लेयर्स को पैसा देता है।

मैच फीस तौर पर मिलती है बड़ा रकम

भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों को मैच फीस के तौर पर भी बड़ी राशि दी जाती है। टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ी को प्रति मैच 15 लाख रुपए दिए जाते हैं। इसके अलावा एक वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने वाले खिलाड़ी को एक मैच के 6 लाख मिलते हैं। T20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले खिलाड़ी को 3लाख रुपए मैच फीस के तौर पर देती है। इसके अलावा आपको बड़ी बात बताएं तो प्लेइंग इलेवन में शामिल ना होने वाले खिलाड़ी को बीसीसीआई मैच फीस का 50% देता है। यानी की टेस्ट टीम के प्लेइंग इलेवन में शामिल ना होने वाले खिलाड़ी को प्रति मैच 7 लाख 50 हजार रुपए मिलते हैं।

चौंकाने वाली बात यह है कि बीसीसीआई भारतीय खिलाड़ियों को 1 घंटे के 1 लाख देती है। टी 20 मैच आमतौर पर 3 घंटे का खेला जाता है, बीसीसीआई मैच के 3 लाख रुपये देता है यानी प्रति घंटा 1 लाख रुपए।

बोनस मनी के तौर पर भी मेहरबान है बीसीसीआई

वहीं भारतीय खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करने पर भी पैसे मिलते हैं। बोनस मनी के तौर पर केवल टेस्ट क्रिकेटर को बीसीसीआई पैसा देती है। टेस्ट मैच में मैच फीस के अलावा बीसीसीआई यह पैसा खिलाड़ियों को देती है। एक टेस्ट मैच की पारी में दोहरा शतक लगाने वाले खिलाड़ी को मैच फीस के साथ 7 लाख रुपये दिए जाते हैं। इसके अलावा शतक लगाने वाले खिलाड़ी को मैच फीस के साथ 5 लाख रुपये दिए जाते हैं। वही किसी गेंदबाज द्वारा अगर 5 विकेट लिए जाते हैं तो उसे मैच फीस के साथ 5 लाख रुपए दिए जाते हैं।

उदाहरण के तौर पर समझे तो ऑस्ट्रेलिया के साथ खेली गई सीरीज में रवि अश्विन ने मैच में सेंचुरी के साथ आठ विकेट लिए थे। यानी उन्होंने कुल 25 लाख रुपए कमाए थे। 15 लाख फीस के तौर पर और 5 लाख रुपए शतक लगाने पर और 5 लाख 5 विकेट लेने पर।

बड़ी टीम के खिलाफ जितने पर भी पैसा

इसके अलावा भी बीसीसीआई भारतीय खिलाड़ियों पर पूरी तरीके से मेहरबान है। बीसीसीआई भारतीय टीम को मजबूत टीम के खिलाफ जीतने पर भी पैसा देता है। ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड जैसी बड़ी टीमों के खिलाफ जीतने पर बीसीसीआई टीम को पैसा देते हैं। हाल ही में भारत की टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी जीती थी। इस सीरीज के जीतने पर बीसीसीआई ने भारतीय टीम को 5 करोड़ रुपये दिए थे।

फिलहाल भारतीय टीम इस समय इंग्लैंड में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए तैयार है। भारतीय टीम को यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल 18 जून से खेलना है। यह मैच 18 जून से 22 जून तक खेला जाएगा। मैच जीतने वाली टीम विश्व की विजेता व टेस्ट की बेस्ट टीम बनेगी।

   
    >