दिल्ली-मेरठ RRTS स्टेशनों के आसपास मिलेंगे जनता को फ्लैट्स, बसाई जाएगी कॉलोनियां

Delhi Merrut RRTS News : दिल्ली-मेरठ रीजनल रेल ट्रांजिट सिस्टम (Delhi Meerut Regional Rapid Transit System) कारिडोर के ऐसे स्टेशनों के पास काॅलोनियों को बसाया जाएगा, जहां पर खाली जगह पड़े हुए हैं। इन काॅलोनियों में स्कूल, अस्पताल, पार्क और मार्केट सहित अन्य कई तरह की सुविधा होंगी। पहले चरण में टीओडी के तहत निगम राजधानी दिल्ली के तीन स्टेशनों सराय काले खां (Sarai Kale Khan), आनंद विहार (Anand Vihar) और जंगपुरा (Jangpura) के करीब काॅलोनियों को बनाया जाना हैं। तीनों स्टेशनों पर बनने वाले काॅलोनियों के कंसल्टेंट के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है।

राष्ट्रीय मेट्रो रेल नीति -2017 के मुताबिक टीओडी के तहत इन तीनों स्टेशनों पर खाली पड़े जगहों पर पर्यावरण अनुकूल और अनिवार्य सुविधाओं से युक्त कर विकसित किया जाएगा। इसमें सड़क को चौड़ा करने के साथ-साथ पैदल राहगीरों से जुड़ी सुविधाओं को ध्यान रखा जाना है। एनसीआरटीसी अधिकारियों ने बताया कि आनंद विहार स्टेशन ट्रांजिट हब भी होगा। जल्द ही डीपीआर तैयार कर काम को शुरू कर दिया जाएगा। कंसल्टेंट की नियुक्ति अंतिम चरण में है। इसके बाद आगे का रास्ता तैयार हो जाएगा।

इस संबंध में एनसीआरटीसी के पीआरओ पुनीत वत्स ने बताया की इस कारिडोर के विकसित होने से आसपास निवेश के अवसर बढेंगे। इससे स्थानीय लोगों को लाभ होंगा।

क्या हैं टीओडी योजना

टीओडी योजना का मुख्य उद्देश्य गाड़ियो के कम से कम इस्तेमाल करने के लिए लोगों को बढ़ावा देना है। इसके लिए लोगों को एक ही जगह तमाम सुविधाएं मिलेगी। एक परिसर में ऑफिस, घर, पार्क से लेकर अन्य सभी तरह के आवश्यक सेवाएं उपलब्ध रहेंगी। इसके वजह से लोगों को एक जगह से दूसरे जगह नहीं जाना होगा और गाड़ियों का भी इस्तेमाल कम होगा। योजना के लिए मेट्रो स्टेशन के पास 500-800 मीटर के करीब जमीन होना महत्वपूर्ण है।

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि