UPSC परीक्षा में सफल इन युवाओं के संघर्ष की कहानी आपको प्रेरणाओं से लबालब भर देगी!

UPSC 2021 Success Stories: यूपीएससी की सिविल सर्विसेज वह परीक्षा है, जिसे सबसे प्रतिष्ठित और कठिन परीक्षाओं में गिना जाता है। यूपीएससी-2021 की परीक्षा में कई अभ्यर्थियों ने सक्सेस पाई। उसी फेहरिश्त में शामिल हैं कुछ की कहानी, जिनके हालात और आर्थिक स्थिति कमजोर भले ही रही हों, मगर उनके हौसले और जज्बे बिल्कुल मजबूत थे।

Vishal Kumar

बिहार के मुजफ्फरपुर के रहने वाले विशाल कुमार (Vishal Kumar) ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज परीक्षा (UPSC Civil Services Exam- 2022) में ऑल इंडिया 484वीं रैंक हासिल की थी। इनके पिता मजदूरी करते थे। पिता की मौ’त के बाद मां ने बच्चों के पालन-पोषण के लिए कर्ज लिया और बेटे की पढ़ाई को जारी रखा। बचपन से ही विशाल पढ़ाई में लगनशील थे। अपनी प्रतिभा के दम पर आईआईटी कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और आईएएस की तैयारी में जुट गए। अब उनके इस सफलता से परिवार सहित पूरे इलाके के लोग काफी खुश हैं और बधाई दे रहे हैं।

लेखपाल की नौकरी से छुट्टी लेकर बने IAS

Kedarnath IAS

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर (Gorakhpur) सदर तहसील में तैनात लेखपाल केदार नाथ शुक्ल के आईएएस अधिकारी बनने की कहानी भी बेहद दिलचस्प है। नौकरी के साथ तैयारी करना काफी मुश्किल होता है। जिले के आईएएस अधिकारी कुलदीप मीना (Kuldeep Meena) और सुमित महाजन (Sumit Mahajan) से प्रेरित होकर केदारनाथ आईएएस (Kedarnath IAS ) बनने के लिए ईमानदारी के साथ मेहनत करने का फैसला किया। केदारनाथ के लगन और मेहनत को देखकर उन्हें एक साल की छुट्टी भी मिल गई। फिर क्या था केदारनाथ ने अपने साहस और कठिन मेहनत के बदौलत यूपीएससी में ऑल इंडिया 465वीं रैंक हासिल कर लिया। मां -बाप के इकलौते बेटे केदारनाथ के इस सफलता से परिवार सहित पुरे इलाके के खुशी का ठिकाना नहीं है ।

आंगनबाड़ी सहायिका के बेटे ने किया कमाल

UPSC 2021 Success Stories

मध्यप्रदेश (Madya Pradesh) के कृष्णपाल राजपूत (Krishanpal Rajput) के आईएएस बनने की कहानी भी बेहद दिलचस्प है। मां आँगनबाड़ी सहायिका है और पिता वकील। निवाड़ी जिले के ओरछा के रहने वाले कृष्णपाल ने चार साल तैयारी की और पहले ही प्रयास में 329वीं रैंक हासिल कर लिया। तमाम आर्थिक परेशानियों के बावजूद वो लगातार तैयारी में जुटे रहे और ग्वालियर में रह कर आज सफलता प्राप्त कर दिखाया है। इनके सफलता से परिवार के लोग काफी खुश हैं और लोग बधाई दे रहे हैं। UPSC 2021 Success Stories

दिल्ली के आयुषी को बंद आखों से मिली सफलता

SHAKSHI

दिल्ली की रहने वाली आयुषी शर्मा (Ayushi Sharma) की सफलता की कहानी गजब की है। आयुषी को आंखों से दिखाई नहीं देता है। वह मुबारकपुर स्थित स्कूल में इतिहास की टीचर रही है। अपने साहस और संकल्प के बदौलत यूपीएससी परीक्षा में ऑल इंडिया 48वीं रैंक हासिल कर अपने आप को साबित कर दिया ह। आयुषी को यह सफलता चौथे प्रयास में जाकर मिलीं है। आज हर कोई इनके सफलता को सलाम कर रहा है।

 

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि