12वीं के बाद पायलट कैसे बने, कौन सी पढ़ाई करें, कितना खर्च आएगा?- यहां मिलेगी आपको फुल जानकारी!

How to become Pilot: ऊंचे आकाश में उड़ते जहाज विज्ञान और तकनीक जगत के वो उदाहरण हैं, जिन्हें हम रोजाना आकाश में उड़ता देखते हैं। जब जहाज उड़ते हैं तब मन में एक ही ख्याल आता है कि इन्हें उड़ाने वाला यानी पायलट (Pilot) कितना पढ़ा-लिखा और इंटेलिजेंट होगा और यह किसी प्रकार हवाई जहाज को उड़ान देता होगा! कहना गलत नहीं कि बचपन में हममें से अधिकतर लोगों का ख्वाब पायलट ही बनना रहा होगा, क्योंकि पायलट ही वो जरिया है जो हमारी जिज्ञासा का हल निकाल सकता है। आज का टॉपिक हमारा पायलट ही है। आज हम जानेंगे कि पायलट बनने के लिए किन-किन योग्यताओं का होना जरूरी है तथा पायलट बनने की प्रक्रिया और चरण क्या-क्या होते हैं।

12वीं के बाद बन सकते हैं पायलट

How to become Pilot

पायलट बनने के लिए जरूरी है कि आपने 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम से पास की हो। आपके पास मैथ्स और फिजिक्स होना जरूरी है- जिनमें आपको 50 फीसदी अंक अर्जित करना आवश्यक है।

मेडिकल फिटनेस जरूरी

pilot recruitment

अगर आप 12वीं पास कर किसी पायलट (How to become Pilot)कोर्स में एडमिशन लेने जा रहे हैं तो ठहरिए! क्योंकि इससे पहले आपको अपनी मेडिकल फिटनेस देखनी है। इसके लिए पहले आपको क्लास-2 के लिए आवेदन करना होगा, टेस्ट के लिए एविएशन की आधिकारिक वेबसाइट https://www.dgca.gov.in/digigov-portal/ पर जाना होगा। टेस्ट के  1 महीने बाद आपको मेडिकल फिटनेस की रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। इसके बाद आपको क्लास-1 का टेस्ट देना होगा जो आपको बताएगा कि आपकी हेल्थ पायलट बनने के अनुकूल है अथवा नहीं।

फ्लाइंग स्कूल ज्वाइन करें अथवा एग्जाम दें

How to become Pilot

मेडिकल टेस्ट देने के बाद आप कोई भी फ्लाइंग स्कूल (Flying School) ज्वाइन कर सकते हैं, जो आपको थ्योरी के साथ-साथ फ्लाइिंग की पूरी ट्रेनिंग देंगे। इसके अलावा आप एग्जाम भी दे सकते हैं इसके लिए आपको फ्लाइंग स्कूल ज्वाइन करने की जरूरी नहीं है। एग्जाम के लिए उड़ान नाम की एक वेबसाइट है, https://pariksha.dgca.gov.in/home यहां से आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा तथा रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक कंप्यूटर नंबर प्रोवाइड करवाया जाएगा। इसके बाद आपको एग्जाम की तैयारी करनी होगी। इस एग्जाम को CPL- Commercial Pilot License,  कहा जाता है। इस बीच आप एग्जाम भी क्लियर करते रहें तथा कोई ऐसा इंस्टिट्यूट ज्वाइन कर लें जो आपको फ्लाइंग ट्रेनिंग साथ-साथ करा दें। क्योंकि पायलट के लिए एग्जाम में पास होने के अलावा 200 घंटे का फ्लाइंग अनुभव भी मांगा जाता है।

पायलट के कोर्स में ये सब होगा।

how to become pilot

एग्जाम में जो कोर्सेज होंगें वो इस प्रकार हैं- मेट्रोलॉजी (Metrology)- जिसमें मौसम के बारे में पढ़ाया जाता है। नेविगेशन (Navigation) के बारे में पढ़ाया जाएगा, तीसरा- विमान की टेक्निकल पढ़ाई, जिसमें विमान उड़ने के तरीकों के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी, चौथा- एयर रेग्यूलेशन्स (हवा के नियम) इत्यादि।

पायलट बनने में खर्चा

air plan

जानकारी के मुताबिक, अगर प्राइवेट तथा सरकारी इंस्टीट्यूट से CPL एग्जाम का पूरा कोर्स किया जाता है, तब इसमें 10 लाख से 1 करोड़ रुपए का खर्चा आता है। यह खर्चा इंस्टीट्यूट की सुविधाओं पर निर्भर करता है।

ऐसे होगा सिलेक्शन

airlines

कोर्स करने के बाद जब आप अप्लाई करेंगे तब आपका पहला रिटन टेस्ट होगा, यह टेस्ट 12वीं की मैथ्स और फिजिक्स के क्वेश्चन के बेस्ड पर होगा। इसके बाद आपका दूसरा राउंड होगा, वो कुछ प्रेक्टिकल होगा, जो वीडियो गेम टाइप होगा। इसके लिए जरूरी है कि आप वीडियो गेम खेलें। तीसरा राउंड में इंटरव्यू होगा। इसके अलावा आप कोर्स कंप्लीट करने के बाद ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं, इसके लिए रिक्रूट कर रहीं  एयरलाइन्स की वेबसाइट पर विजिट किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- अब 5000 से अधिक पदों पर PTI भर्ती का इंतज़ार खत्म!! इस दिन शुरू होंगे पीटीआई भर्ती के आवेदन

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि