इस तरह होगा देश के 100 नए सैनिक स्कूल में एडमिशन, ई-काउंसलिंग और जानें पूरी प्रोसेस

Sainik School Admission: देशभर मे खुले 100 नए सैनिक स्कूलों में एडमिशन की प्रक्रिया को लेकर सरकार ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है। इन स्कूलों में एडमिशन के लिए विद्यार्थियों की ऑनलाइन काउंसलिंग करने के लिए विशेष प्रणाली को विकसित की जा रही है।

ई-काउंसलिंग के संचालन के लिए सैनिक स्कूल सोसायटी (Sainik School Society) एक स्वचालित सिस्टम विकसित कर रही है। ये नया सिस्टम पूरे देशभर के नए स्कूलों पर लागू किया जायेगा।

पीपीपी मॉडल (PPP Model) पर खुलने वाले यह सभी स्कूल मौजूदा सैनिक स्कूल की तरह ही काम करेंगे। अभी देश में कुल 33 सैनिक स्कूल हैं। सरकार के अनुसार इन स्कूल में 2022-23 के सत्र में करीब 5000 बच्चों को एडमिशन दिया जाएगा।

रक्षा मंत्रालय का बयान

रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) ने इन स्कूलों पर जानकारी देते हुए कहा कि सैनिक स्कूल सोसाइटी 100 नए सैनिक स्कूलों में ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए प्रणाली विकसित की जा रही है। मंत्रालय की और से कहा गया कि ई-काउंसलिंग (e-Counseling) के लिए एक स्वचालित प्रणाली प्रवेश प्रक्रिया में पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित करेगी।

सैनिक स्कूल में इस तरह मिलेगा एडमिशन

सैनिक स्कूल सोसायटी में एडमिशन के लिए अधिक नबंर वाले छात्रों को सोसाइटी मोबाइल नंबर या ईमेल के जरिये लिंक भेजेगी।

उससे पहले इच्छुक छात्रों को इस  www.sainikschool.ncog.gov.in वेबसाइट पर अपना पंजीकरण कराना होगा।

इसके बाद छात्रों के पास 10 स्कूलों के चयन का विकल्प भी उपलब्ध होगा और छात्रों का रिजल्ट भी ई-काउंसलिंग के पोर्टल पर घोषित किए जाएंगे।

मंत्रालय ने कहा कि 100 नए सैनिक विद्यालयों की स्थापना के सरकारी लक्ष्य की दिशा में बढ़ते हुए ई-काउंसलिंग के लिए सैनिक स्कूल सोसाइटी स्वचालित प्रणाली विकसित करने की प्रक्रिया में है। मंत्रालय ने कहा कि देशभर के छात्रों को सैनिक स्कूल पाठ्यक्रम का पालन करने के साथ-साथ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप आगे बढ़ने का अवसर प्रदान होगा। ई-काउंसलिंग प्रणाली कम खर्च की और सभी का हित करने के लिए है। इस प्रणाली का प्रयोग विद्यार्थियों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होगी।

छात्रों को स्कूल आवंटन के लिए 10 स्कूलों के चयन का ऑप्शन दिया जाएगा जिसके बाद उनकी रैंक और स्कूलों की पसंद के आधार पर एडमिशन दिया जाएगा. रिजल्ट ई-काउंसलिंग पोर्टल के जरिए घोषित किए जाएंगे। राउंड-1 में बची हुई सीटों को राउंड-2 में भरा जाएगा।

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि