अगर खोलना चाहते हैं खुद की गैस एजेंसी तो इन बातों पर जरूर गौर करें…

Business News: व्यावसायिक क्षेत्र में अगर कुछ बड़ा करना चाहते हैं, तब हम आपके लिए कुछ बड़ा ही लेकर आए हैं। कभी आपने गैस एजेंसी के बारे में सोचा है कि वह कैसे रेगुलेट होती है, कैसे सप्लाई ली जाती है और कैसे डिस्ट्रीब्यूशन किया जाता है इत्यादि! इन जानकारियों को अगर आपने जान लिया तब आप निश्चित ही एक गैस एजेंसी खोल सकते है। जी हां, सही सुना आपने आप खुद की गैस एजेंसी खोल सकते हैं (How to Open Gas Agency) और इसके जरिए तगड़ी कमाई कर सकते हैं, इसलिए आज हम आपको इन्हीं जानकारियों से विस्तारपूर्वक रूबरू करवाएंगे तथा एक गैस एजेंसी को खोलने में किन-किन चुनौतियों और मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, इसके बारे में बात करेंगे।

indian gas

इण्डियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड गैस (Indian Oil Corporation Limited) इंडेन गैस (Indian Gas) की डिस्ट्रीब्यूटरशिप देती है। भारत पेट्रोलियम (Bharat Petroleum) इंडेन गैस के लिए और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (Hindustan Petroleum) एचपी गैस (HP Gas) के लिए डिस्ट्रीब्यूटरशिप प्रदान करती है। हालांकि, डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए कंपनियों ने नियम बनाएं हैं, जिसके अंतर्गत वितरण एजेंसी का लाइसेंस किसी भी व्यक्ति को दिया जाता है। ये कंपनियां समय-समय पर डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए आवेदन आमंत्रित करती है।

हिंदुस्तान पेट्रोलियम (Hindustan Petroleum) की वेबसाइट के मुताबिक, कंपनियां ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन आमंत्रित करती हैं। आवेदन करने के बाद उम्मीदवार का इंटरव्यू लिया जाता है, इस साक्षात्कार में उम्मीदवार को नंबर दिया जाते हैं, जिसके बाद रिजल्ट घोषित होने पर उम्मीदवार को चयन किया जाता है, चयनित के बाद वेरिफाई कर उम्मीदवार को गैस एजेंसी अलॉट की जाती है।

hp gas

गैस एजेंसी के लिए सबसे जरूरी है कि जगह अनुकूल हो, यानी वह जगह खुली हो तथा वहां वाहन की आवाजाही उचित प्रकार हो सके, आपको कम से कम 15 साल के लिए जमीन लीज पर लेनी होगी, जिसके बाद अधिकारियों द्वारा उस जमीन की जांच की जाती है। जांच सही पाई जाने पर आप गोदाम खोल सकते हैं। जमीन खोजना तथा उसे लीज पर लेना बेहद मुश्किल प्रोसेस होता  है, साथ ही इसकी जो प्रक्रिया होती है वह भी बेहद लंबी होती है।

रसोई गैस एजेंसी के लिए सरकार के तय स्टैंडर्ड के (How to Open Gas Agency) मुताबिक सामान्य श्रेणी के उम्मीदवार को 50 फीसदी रिजर्वेशन मिलता है। इसके बाद अनुसूचित जाति तथा जनजाति के वर्गों को भी रिजर्वेशन मिलता है है। गैस एजेंसी के लिए सरकारी सेवाओं में सेवानिवृत्त अधिकारियों तथा कर्मियों को प्राथमिकता दी जाती है।

gas

एलपीजी (LPG) डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए आवेदन आमंत्रित करने के लिए अखबारों में अधिसूचना जारी होती है। जिसकी अधिक जानकारी https://lpgvitarakchayan.in पोर्टल पर भी जाकर देखी जा सकती है। कभी-कभार लकी (How to Open Gas Agency) ड्रा के अनुसार भी गैस एजेंसी अलॉट की जाती है।

इन बातों का ख्याल रहें

  • डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार भारत का नागिरक हो।
  • उम्मीदवार का 10वीं पास होना जरूरी है।
  • उम्मीदवार की उम्र 21 साल से 60 साल के बीच हो।
  • उम्मीदवार के परिवार का कोई भी सदस्य ऑयल मार्केटिंग कंपनी में नौकरी नहीं करता हो।
  • गैस एजेंसी के लिए उम्मीदवार को 10 हजार रुपए शुल्क के रूप में भरने पड़ते हैं।
  • आवेदक शुल्क नॉन रिफंडेबल होता है।
  • गैस एजेंसी खोलने के लिए लगभग 15 लाख रुपए का खर्चा आता है।
  • जमीन को लीज पर लेने तथा वहां गोदाम बनवाने तथा मशीन लगवाने का खर्च अलग होता है।

यह भी पढ़ें- जानिए खरबपति बिजनेसमैन साइरस मिस्त्री की कहानी- जिन्होंने लड़ी थी रतन टाटा से बड़ी जंग!

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि