Connect with us

हरियाणा

द ग्रेट वॉल ऑफ इंडिया सविता पूनिया को जानिए, हरियाणा की बेटी ने लहराया दुनिया में परचम

Published

on

टोक्यो ओलंपिक में इस बार भारतीय महिला हॉकी टीम ने हर किसी का ध्यान आकर्षित किया है. फिलहाल महिला टीम हॉकी के सेमीफाइनल में खेल रही है. हॉकी के क्वाटर फाइनल मैच के बाद एक नाम सविता पूनिया हर किसी की जुबां पर है उनके मैच में गोलपोस्ट के सामने दीवार की तरह टिके रहने की हर कोई तारीफ कर रहा है.

एक समय था जब भारतीय महिला हॉकी टीम की उप कप्तान और गोलकीपर सविता पूनिया को पैसों की तंगी झेलनी पड़ी थी. ट्रेनिंग पर जाने के दौरान उनके पास ऑटो में देने के लिए किराए के पैसे नहीं थे.

हरियाणा के सिरसा की रहने वाली सविता का जन्म 11 जुलाई 1990 को हुआ और वह 18 साल की उम्र से भारत के लिए खेल रही है, आज मेहनत के बूते सविता को भारतीय हॉकी टीम की एक मजबूत दीवार के रूप में जाना जाता है.

बेहतरीन गोलकीपर हैं सविता पूनिया

सविता पूनिया वर्तमान में टीम की बेहतरीन गोलकीपर बनकर उभरी हैं और इसके साथ ही वह टीम की उप कप्तान भी हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में सविता के दमदार प्रदर्शन की बदौलत ही आज भारत सेमीफाइनल में खेल रहा है.

महिला हॉकी टीम की इस स्टार खिलाड़ी के लिए गोलकीपर सविता पूनिया के पिता कहते हैं कि मेरी बेटी ऐसे ही देश का नाम रोशन करे मैं यही चाहता हूं। वहीं हॉकी खेलने के लिए सविता को उनके दादा महिंदर सिंह ने प्रोत्साहित किया था. सविता ने अपने करियर में बुलंद हौसलों को अपना हथियार बनाया।

इससे पहले सविता ने 2017 में महिला हॉकी एशिया कप में शानदाऱ खेल दिखाया था जिसमें भारत ने चीन को हराया था।

   
    >