Connect with us

भारत

अब दिल्ली से जयपुर का सफर 2 घंटे का, देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे ~ जानिए क्या है इसमें खास

Published

on

देश का सबसे लंबा दिल्ली से मुंबई के बीच बनने वाला ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का गुरुवार को सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने समीक्षा की और एक्सप्रेस-वे को प्रगति का हाईवे बताया है। उन्होने कहा कि ये दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे है और जयपुर दिल्ली के बीच की दूरी जल्द ही केवल दो घंटे में पूरी हो जाएगी। 1350 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे के 350 किलोमीटर का निर्माण पूरा किया जा चुका है इस पर एक तरफ आठ लेन बनाई जा रही है,वहीं जरूरत पडने पर भविष्य में चार लेन और बनाई जा सकेंगी. जनवरी 2023 तक इसका काम पूरा किया जायेगा है।

राजस्थान में इस एक्सप्रेस-वे के तहत 16,600 करोड़ रुपये की लागत से 374 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया जाना है, जिसके लिए कार्य आवंटित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेसवे अलवर, भरतपुर, दौसा, सवाई माधोपुर, टोंक, बूंदी और कोटा जिलों में विकास को मजबूत करेगा। साथ ही यह विकासशील किसानों, आदिवासियों और युवाओं द्वारा सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन भी लाएगा।

गडकरी ने आगे कहा, हम कोशिश करेंगे कि इस राजमार्ग के लिए यातायात नियमों को बदला जा सके और अधिकतम गति लगभग 100 किमी प्रति घंटे की अनुमति दी जाए क्योंकि सड़क पर कोई जानवर या व्यक्ति नहीं चलेंगे। हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि दिल्ली और अमृतसर के बीच की दूरी चार घंटे में, दिल्ली से कटरा की दूरी छह घंटे में, दिल्ली से मुंबई की दूरी 12 घंटे में तय हो।

मुंबई-दिल्ली एक्सप्रेस-वे सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे होगा, जो कई सुविधाओं से लैस होगा। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक चार्जिंग की सुविधा होगी। राजस्थान के हैंडलूम और भोजन को प्रदर्शित करने की भी हमारी योजना है। अगर यहां की सरकार रसद, औद्योगिक क्लस्टर, स्मार्ट सिटी आदि की योजना बना सकती है, तो यहां के युवाओं को भी पर्याप्त अवसर मिल सकते हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >