Connect with us

कर्नाटक

नौकरी के साथ तैयारी करने वाली Aparna Ramesh ने आईएएस बन बचपन का सपना किया पूरा

Published

on

IAS UPSC Topper Aparna Ramesh

यूपीएससी की परीक्षा को पूरे देश भर में सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक माना जाता है। जब बिना कोचिंग के मेहनत के साथ अभ्यार्थी इस परीक्षा को पास करे तब उसके मन के भाव को आप समझ सकते हैं। ऐसा ही करके दिखाया कर्नाटक की रहने वाली अपर्णा रमेश ने, अपर्णा रमेश (Aparna Ramesh) ने साल 2020 यूपीएससी परीक्षा में 35वी रैंक (AIR 35) हासिल की है। अपर्णा की तैयारी के दौरान अपर्णा नौकरी के साथ साथ पढ़ती रही। वह कहती है कि नौकरी के साथ बैलेंस बनाकर पढ़ाई करना मुश्किल था,लेकिन वह प्रयास करते रही और उन्हें खुशी है कि उन्होंने सफलता हासिल की है।

भारी नही पड़ने दिया सिलेबस

अपर्णा रमेश कहती हैं कि जब वह नौकरी करने के बाद घर लौटती तो उनके पास समय कम होता था। ऐसे में उनके लिए सभी टॉपिक्स (Topics) कवर करना भी मुश्किल था। लेकिन उन्होंने उन्हीं टॉपिक्स पर ज्यादा जोर दिया जो परीक्षा में सबसे ज्यादा अहम थे। वे कहती हैं कि बड़े सिलेबस होने के बावजूद भी उन्होंने उसे कभी खुद पर भारी नहीं पड़ने दिया। अपर्णा रोजाना सुबह 4:00 बजे उठकर 7:00 बजे तक पढ़ाई किया करती थी। इसके बाद ऑफिस चली जाती और घर लौटने के बाद आकर 3 घंटे रोजाना फिर से पढ़ाई किया करती थी। अपर्णा रमेश कहती है कि छुट्टी वाले दिन है 8 से 10 घंटे तक पढ़ाई किया करती थी। उन्हें खुशी है कि उनकी मेहनत आखिरकार रंग ले लाई।

ias aparana ramesh

आखरी प्रयास में सफलता

अपर्णा रमेश ने अपने दूसरे प्रयास (2nd Attempt) में सफलता हासिल की है। पहले प्रयास में वह असफल हो गई थी और इसके बाद उन्होंने मन में ठाना की वह एक प्रयास और देंगी। उन्हीने ठाना की अगर परीक्षा पास नहीं होगी तो आर्किटेक्ट (Architect) कम (Cum) अर्बन प्लानर (Urban Planner) के रूप में काम करती रहेंगी। लेकिन अपने मन में दृढ़ निश्चय करके उन्होंने तैयारी की और मेहनत के साथ यूपीएससी कठिन परीक्षा को पास करके पूरे देश में 35 वीं रैंक हासिल कर ली है।

ऐसी की तैयारी और देती है यह सलाह

अपर्णा रमेश कहती हैं कि उन्होंने इतिहास (History),भूगोल(Geography),अर्थशास्त्र (Economics)bके लिए एनसीईआरटी (NCERT) की 11 वीं 12 वीं पर किताबों से तैयारी की थी। साथ ही तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के लिए वह कहती हैं कि नोट्स (Notes) पढ़ना सबसे ज्यादा जरूरी होता है। वह कहती हैं कि ऑनलाइन समाचारों का भी संदर्भ दिया जा सकता है। वही अपर्णा कहती हैं की नवीनतम घटनाओं  पर नजर बनाना सबसे ज्यादा जरूरी है। इसके लिए वह टीवी देखकर समाचार पत्र पढ़कर अपने करंट अफेयर्स (Current Affairs) को अपडेट कर दी थी। साथ ही साथ दैनिक आधार पर नोट्स भी बनना चाहिए। अपर्णा कहती हैं कि लास्ट ईयर की क्वेश्चन पेपर (Question Paper) को भी सॉल्व करते रहना चाहिए, वह भी परीक्षा की तैयारी और मजबूत होती है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >