इडली-डोसा बेचकर खड़ी की 100 करोड़ की कम्पनी, कुली का यह बेटा आज देता हैं 1100 लोगों को नौकरी

भारत में बेरोजगारी की समस्या से किसी भी उम्र के लोग अब अनछुए नहीं रहे हैं। हर किसी को बेरोजगारी खून के आंसू रूला रही है। देश में युवाओं की जवानी एक अदद सरकारी नौकरी की उम्मीद में निकल रही है।

वहीं बड़ी कॉलेजों से मोटी डिग्री लेने वाले भी नौकरी की तलाश में दर-दर भटक रहे हैं, लेकिन आज  हम आपको एक ऐसे शख्स की कहानी बताएंगे जिनकी कहानी में बस एक आइडिया की कमी थी, जैसे ही वो आइडिया उनके दिमाग में खटका, उन्होंने आगे की राह पकड़ ली।

हम बात कर रहे हैं उस शख्स की जिसके पिता एक समय में कुली का काम करते थे लेकिन आज वह करोड़ों के मालिक हैं और 1100 लोगों को नौकरी भी देते हैं। केरल के एक छोटे से गांव पीछरे में रहने वाले पीसी मुस्तफा जो अपनी मेहनत के बल पर आज 400 करोड़ की कंपनी के मालिक हैं।

पिता करते थे कुली का काम

पीसी बताते हैं कि बचपन के दिनों में उनके गांव में बिजली और सड़क तक नहीं थी, वह अपने सैकड़ों किलोमीटर के पैदल स्कूल सफर के बारे में बताते हैं। पीसी के पिता अहमद पढ़ नहीं सके तो एक कॉफी मिल में कुली की नौकरी करने लगे। घर में पीसी के अलावा उनक तीन बहनें है।

छठीं क्लास में हो गए थे फ़ेल

घर में पढ़ाई-लिखाई का माहौल नहीं होने के कारण पीसी स्कूल के दिनों में छठीं क्लास में फ़ेल हो गए थे लेकिन एक फेलियर झेलने के बाद उन्होंने 10वीं क्लास में स्कूल में टॉप किया।

स्कूल के बाद उन्होंने नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी में कंप्‍यूटर साइंस में दाखिला लिया और अमेरिका के एक भारतीय स्‍टार्टअप मैनहैट्टन एसोसिएट्स में नौकरी की। लेकिन नौकरी में ज्यादा दिन वह नहीं रूक सके और भारत आकर बिजनेस करने के बारे में सोचा।

ID FRESH’ नाम से शुरू की कंपनी

पीसी मुस्तफा के एक कजिन ने एक बारे उन्हें डोसा बैटर कंपनी शुरू करने का आइडिया दिया था जिस पर विचार करने के बाद उन्होंने उसी पर आगे बढ़ने का फैसला किया। उन्होंने 5 भाइयों के साथ 25 हजार रुपए की लागत से एक कंपनी खोली जिसका नाम ID FRESH रखा जो इडली डोसा बनाने के लिए जरूरी मिश्रण बेचने का काम करती है।

मुस्तफा ने शुरूआत में 10 पैकेट बनाने से शुरू किया लेकिन धीरे-धीरे कई शहरों और देशों में उनका माल सप्लाई होने लगा और अक्टूबर 2015 में उन्होंने 100 करोड़ का मुनाफा हासिल किया। आज मुस्तफा की कंपनी में 1100 कर्मचारी काम करते हैं और उनकी कंपनी हर दिन औसतन 50000 पैकेट बेचती है।

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि