Connect with us

खबरे

राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला, 9वीं से 12वीं के कोर्स में 30% कटौती, छात्रों का होगा हर महीने टेस्ट

Published

on

कोरोना की दूसरी लहर के बाद अब राजस्थान सरकार 1 सितंबर से स्कूल खोलने के लिए तैयार है। स्कूलों के खुलने से पहले शिक्षा ने मंगलवार को नई गाइडलाइन जारी की जिसमें सभी स्कूलों में 30% तक कोर्स कटौती करने का फैसला लिया है। वहीं हर महीने छात्रों के मूल्यांकन के लिए टेस्ट करवाने का भी प्रस्ताव रखा गया है।

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि लंबे समय से कोरोना संक्रमण की मार से बच्चों की शिक्षा पर बुरा असर पड़ा है ऐसे में कोर्स कटौती के साथ-साथ मूल्यांकन के नवाचार किए जा रहे हैं। इस फैसले में छात्रों और शिक्षकों दोनों के हितों का ध्यान रखा गया है।

छात्रों का होगा हर महीने मूल्यांकन

डोटासरा ने आगे बताया कि हम कोरोना की तीसरी लहर के मुहाने पर खड़े हैं ऐसे में विभाग अब हर महीने बच्चों का टेस्ट लेगा जिससे कि भविष्य में यदि स्कूल फिर बंद होते हैं तो हम बच्चों का मूल्यांकन कर सकेंगे।

वहीं स्कूलों में सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन की पालना को लेकर जनप्रतिनिधि के साथ आला अधिकारियों को भी लगाया जाएगा जो स्कूलों का औचक निरीक्षण करेंगे। वहीं राजस्थान में प्राइमरी स्कूल खोलने को लेकर डोटासरा ने कहा कि केंद्र की गाइडलाइन के बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा।

स्कूलों में लागू होंगे यह नियम….

  • बच्चों के बीच में दो गज की दूर का पालन करवाया जाएगा।

 

  • एक साथ बच्चे लंच नहीं करेंगे और लंच बॉक्स आपस में शेयर नहीं करें।  वहीं पानी की बोतल अपने घर से लानी होगी।

 

  • स्टूडेंट्स-टीचर को हर समय फेस मास्क जरूरी।

 

  • प्रार्थना सभा और खेलकूद गतिविधियां फिलहाल नहीं आयोजित होगी।

 

  • निर्धारित की गई सीट पर ही बैठे।

 

  • अपनी पानी की बोतल और सैनिटाइजर साथ रखना होगा।

 

  • जुकाम, खांसी, बुखार होने पर स्कूल नहीं आना है।

वहीं राजस्थान के माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने कहा कि विभाग ने गाइडलाइन तैयार कर दी है अब स्कूल टीचर्स व पेरेंट्स दोनों को हमारा सहयोग करना होगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >