Connect with us

खबरे

कवि हाजरी प्रसाद की नातिन ने कर दिखाया कमाल,देश में 9वी रैंक हासिल कर डाॅ.अपाला मिश्रा बनी आईएएस

Published

on

IAS Apala Mishra

आज हम आपको कहानी बताएंगे यूपीएससी की परीक्षा में ऑल इंडिया 9वी रैंक हासिल करने वाली अपाला मिश्रा (UPSC Topper AIR 9 Apala Mishra) की। कवि हजारी प्रसाद द्विवेदी (Kavi Hazari Prasad Diwedi)  की नातिन अपाला मिश्रा यूपीएससी 2020 में ऑल इंडिया में टॉप किया है। 2018 से तैयारी कर रही अपाला मिश्रा ने अपने तीसरे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा में यह बड़ा कारनामा करके दिखाया है।

2 असफलता से नही मानी हार

अपाला मिश्रा ने अपने डेंटल मेडिकल के अंतिम वर्ष से यूपीएससी (UPSC) की तैयारी करना शुरू कर दिया था। इसके बाद उन्हें उनके पहली दो प्रयासों में आसफलता प्राप्त हुई। अपाला मिश्रा ने इसके बावजूद हार नहीं मानी और यूपीएससी परीक्षा को उत्तीर्ण (Pass) कर दिखाया। आईएस अपाला मिश्रा कहती हैं कि दो बार प्री परीक्षा (Pre Exam) तक भी पास नहीं कर पाई। जिसके बाद उनके दोस्तों ने उनका मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। लेकिन वह सब चीजों को दरकिनार करके तैयारी करती है और उन्हें खुशी है कि आज उन्होंने इस मुकाम को पा लिया है।

IAS Appala Mishra

एक बार हो गई मायूस

अपाला मिश्रा ने अपनी तैयारी करने के लिए शुरू में कोचिंग (Coaching) जाना शुरू किया था। लेकिन बाद में उन्हें समझ में आया कि सेल्फ स्टडी (Self Study) पर फोकस करना बेहतर होगा। अपाला कहती है कि वह एक वक्त के लिए मायूस हो गई थी जब मॉक टेस्ट (Mock Test) में उनके नंबर कम आए थे। लेकिन इसके बाद उन्होंने नंबर कमाने पर हताश ना होकर मेहनत करना जारी रखा। हिम्मत ना हार कर अपाला मिश्रा ने ऑल इंडिया में नवी रैंक हासिल की है।

इंटरव्यू में बनाया रिकॉर्ड 

अपाला की तैयारी इतनी हुई कि उन्होंने इंटरव्यू में एक रिकॉर्ड बना लिया। साल 2020 में इंटरव्यू के दौरान उन्हें 215 (Highest Marks in UPSC Interview) अंक मिले। हम आपको बता दें इससे पहले इंटरव्यू में 212 अंकों का रिकॉर्ड था। लेकिन अपाला कहती हैं कि उन्हें कहीं ना कहीं इस बात का खेद है कि अगर उन्हें अच्छी गाइडलाइन (Guidelines) पहले मिल जाती तो शायद वह पहले या दूसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा को पास कर लेती।

IAS Appala Mishra

बैकग्राउंड से मिली प्रेरणा

अपाला मिश्रा कहती है कि वह डॉक्टर (Doctor) से यूपीएससी (UPSC) के क्षेत्र में आई। उन्हें अपने बैकग्राउंड (Background) से प्रेरणा मिलती है। वह कहती हैं कि हेल्थ सर्विस सिस्टम (Health Service System) को उन्होंने ध्यान से देखा और महसूस किया कि इस पर ध्यान देना ज्यादा जरूरी है। इस विचार से उन्हें समाज में ज्यादा प्रभाव डालने के लिए आईएस सेवा (IAS Services) में करियर बनाना चाहिए। सैन्य अधिकारी पिता (Armed Officer Father) और प्रोफेसर मां (Professor Mother)  की बेटी ने सिविल परीक्षा तैयारी में टॉप करके अपने परिवार और अपने शहर का नाम रोशन कर दिया है।

तुरन्त नही मिलती कामयाबी

अपाला मिश्रा कहती है कि कोचिंग सेंटर (Coaching Centre For UPSC)  हमें मदद कर सकते हैं लेकिन अंत में पढ़ाई खुद करनी पड़ती है। वह कहती हैं कि किसी भी चीज का नतीजा तुरंत नहीं मिलता। हमें उसके लिए डटे रहना पड़ता है। वह खुद भी रोजाना 8 घंटे से ज्यादा पढ़ाई किया करती थी। तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को सलाह देते हुए अपाला कहती हैं कि हमें बेसिक बुक्स (Basic Books)  को पढ़ना चाहिए। इसी के साथ-साथ रिवीजन (Revision) करना सबसे ज्यादा जरूरी है। आगे वह कहती हैं कि हमें लगातार पढ़ते रहना चाहिए और रिवीजन समय के साथ होती रहे यह भी महत्वपूर्ण है। अतिआत्मविश्वास (Over-Confidence) वाले लोगों से सलाह कम ही लेनी चाहिए। साथ ही अपाला कहती हैं कि हमें खुद के लिए भी टाइम निकालना जरूरी है जो अच्छा लगे वह करना चाहिए। ब्रेक लेने से भी दिमाग ज्यादा काम करता है और उस पर। बोझ नहीं पड़ता।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >