Connect with us

खबरे

नहीं रहे निशान-ए-हिंदुस्तान दिलीप कुमार, 98 साल की उम्र में कहा अलविदा, पीएम मोदी ने किया याद

Published

on

महान अभिनेता और ट्रेजेडी किंग के नाम से मशहूर बॉलीवुड के महान अभिनेता दिलीप कुमार आज इस दुनिया से रूखसत हो गए। 98 साल की उम्र में दिलीप कुमार ने आखिरी सांस आज सुबह 7:30 बजे आखिरी सांस ली।

आपको बता दें कि दिलीप कुमार सांस लेने में शिकायत की परेशानी के बाद बीते 29 जून को अस्पताल ले जाया गया था। दिलीप कुमार पिछले लंबे समय से बीमार चल रहे थे जिसके बाद उन्हें काफी बार अस्पताल ले जाया गया था।

दिलीप कुमार की निधन की औपरातिक पुष्टि उनके पारिवारिक मित्र फैजल फारुखी ने की, फारूखी ने सोशल मीडिया के माध्यम से लिखा कि, बहुत भारी दिल से ये कहना पड़ रहा है कि अब दिलीप साहब अब हमारे बीच नहीं रहे। दिलीप कुमार का अंतिम संस्कार आज शाम 5 बजे मुंबई के सांताक्रूज में किया जाएगा।

दिलीप कुमार के मौत की खबर आने के बाद पूरी बॉलीवुड इंडस्ट्री में शोक की लहर है, सभी अभिनेता और राजनीतिक पार्टियों से जुड़े लोग एक दौर के इस महान अभिनेता को याद कर श्रृद्धांजलि दे रहे हैं।

वहीं पीएम मोदी ने भी दिलीप कुमार को याद करते हुए लिखा है कि “उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है। उनके परिवार, दोस्तों और असंख्य प्रशंसकों के प्रति संवेदना”।

इसके अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी दिलीप कुमार को नमन करते हुए लिखा है कि, “दिलीप कुमार ने अपने आप में उभरते भारत के इतिहास को प्रस्तुत करने वाले अभिनेता थे। उनका निधन एक युग का अंत है। दिलीप साहब भारत के लोगों के दिलों में हमेशा जिंदा रहेंगे। उनके परिवार और अनगिनत प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना”।

आपको बता दें कि दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद युसूफ खान था जिनका जन्म 11 दिसंबर 1922 को हुआ था। बॉलीवुड में दिलीप कुमार को द फर्स्ट खान के नाम से ख्याति मिली।

1944 में फिल्म ज्वार भाटा से फिल्मों की शुरूआत करने वाले दिलीप कुमार ने अपने पांच दशक के लंबे करियर में 65 से अधिक फिल्मों में अदाकारी की। दिलीप कुमार की कुछ यादगार फिल्में हैं- अंदाज (1949), आन (1952), दाग (1952), देवदास (1955), आजाद (1955), मुगल-ए-आजम (1960), गंगा-जमुना (1961), राम और श्याम (1967)।

वहीं दिलीप कुमार के फैंस उन्हें फिल्म क्रांति करमा और सौदागर के लिए भी याद करते हैं।

   
    >