Connect with us

खबरे

माइन ब्लास्ट में गंवा दिया था पैर, भारतीय सेना के जवान सोमन राणा टोक्यो पैरालंपिक में दिखाएंगे दमखम

Published

on

टोक्यो ओलंपिक में भारत के खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के बाद अब पैरालंपिक के लिए खिलाड़ी दमखम भर रहे हैं। पैरालंपिक में चयन होने वाले खिलाड़ियों की कहानियां संघर्ष भरी है। हाल में भारतीय सेना के जवान हवलदार सोमन राणा ने टोक्यो पैरालंपिक के लिए शॉट पुट में क्वालीफाई किया है। माइन विस्फोट में अपना दाहिना पैर गंवा देने वाले राणा पैरालंपिक में एफ-57 वर्ग में खेलेंगे। आइए जानते हैं राणा ने यह कठिन सफर कैसे तय किया.

सेना में ड्यूटी के दौरान गंवा दिए थे पैर

शिलांग से आने वाले राणा फिलहाल अपनी श्रेणी के दुनिया के दूसरे शॉट-पुट पैरा-एथलीट हैं। राणा ने 2006 में भारतीय सेना में ड्यूटी के दौरान एक हादसे में अपने पैर गंवा दिए थे। एक माइन में विस्फोट के दौरान राणा के साथ यह हादसा हुआ।

इसके बाद राणा ने 2017 में पुणे में आर्मी पैरालंपिक नोड में दाखिला लिया और वहां से उनका सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने का सफर शुरू हुआ। बता दें कि इस नोड में सभी सेवारत विकलांग सैनिकों को पैरा-स्पोर्ट्स में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है।

राणा ने देश को किया गौरवान्वित

राणा ने 2021 की शुरूआत में ट्यूनिस वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में सोना अपने नाम किया था। वहीं XIX राष्ट्रीय एथलेटिक्स पैरा चैम्पियनशिप में दो स्वर्ण पदक और एक रजत पदक भी जीता है।

इसके अलावा उन्होंने एशियाई पैरा खेलों, विश्व सैन्य खेलों, विश्व पैरा चैम्पियनशिप और विश्व ग्रैंड प्रिक्स स्पर्धाओं में भी भारत के लिए पदक जीते हैं। गौरतलब है कि 2020 टोक्यो पैरालंपिक में राणा का मुकाबला 24 अगस्त से 5 सितंबर के बीच होगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >