Connect with us

खबरे

जागृति ने नौकरी छोड़ शुरू की यूपीएससी की तैयारी, दूसरे प्रयास में UPSC किया टॉप

Published

on

IAS Jagriti Awasthi

आज हम आपको कहानी बताएंगे फतेहपुर के छोटे से गांव नशेनियां की रहने वाली जागृति अवस्थी (Jagriti Awasthi) की। जागृति अवस्थी ने हाल ही में घोषित हुए यूपीएससी 2020 (UPSC 2020) परीक्षा के नतीजों में ऑल इंडिया में दूसरी रैंक (UPSC Topper AIR 2) हासिल की है। जागृति अवस्थी अब आईएएस जागृति अवस्थी (Jagriti Awasthi) बन गई है। वह इस वक्त भोपाल में रहती।

पढाई

जागृति की शिक्षा की बात करें तो साल 2010 में उन्होंने दसवीं कक्षा और 2012 में 12वीं कक्षा महऋषि विद्या मंदिर विद्यालय (Maharishi Vidya Mandir Vidyalaya) से की थी। इसके बाद उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की थी। जागृति ने नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (National Institute Of Technology)  से बीटेक (B tech) किया और उसके बाद साल 2017 से 2019 तक BHEL (Bharat Heavy Electricals Limited) में नौकरी भी की थी।

UPSC Topper Jagriti

जॉब छोड़ शुरू की तैयारी

जागृति अवस्थी नौकरी के दौरान अपने सपने को याद किया। वह कलेक्टर (Collector) बनना और सामाजिक क्षेत्र में काम करना चाहती थी। इसके बाद उन्होंने नौकरी छोड़कर यूपीएससी की तैयारी करना शुरू कर दिया। सबसे पहले उन्होंने नौकरी के दौरान ही अपना पहला प्रयास यूपीएससी(1st Attempt of UPSC) में दिया लेकिन विफल हो गई। बाद में नौकरी को छोड़ कर तैयारी करना शुरू कर दिया। जागृति ने दिल्ली में रहकर एक कोचिंग सेंटर (Coaching Centre For UPSC) भी जाना शुरू किया लेकिन बाद में लॉकडाउन (Lockdown) लगने की वजह से वह दिल्ली से भोपाल (Delhi to Bhopal) आ गई। उन्होंने ऑनलाइन क्लासेज (Online Classes) पढ़ना शुरू किया।

माता पिता ने भी किया त्याग

जागृति अवस्थी की बात करें तो उनके पिता डॉ सुरेश चंद्र अवस्थी (Doctor Suresh Chandra Awasthi) मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर (Professor in Medical College) हैं। उनकी माताजी स्कूल में पढ़ाती थी और उनकी मां ने अपनी नौकरी छोड़कर बेटी को आगे बढ़ाने के लिए मेहनत करना शुरू किया। उनके पिता ने भी 4 साल से टेलीविजन (Television) नहीं देखा। जागृति अपनी कामयाबी के पीछे अपने माता पिता के साथ भाई और पूर्व सैनिक मामा जितेंद्रनाथ को श्रेय देती हैं। जागृति कहती हैं कि उन्होंने कभी हार नहीं मानी, जितना पढ़ा पूरी लगन के साथ मेहनत के साथ पढ़ाई की। वह कहती है कि टेक्निकल ऑफिसर (Technical Officer) बनने के बाद भी वह मेहनत करती रही। आईएएस बनने के लिए उन्होंने रिजाइन कर तैयारी करना शुरू किया था।

UPSC IAS

इतनी की पढ़ाई और देती है यह सलाह

जागृति अवस्थी ने अपने दूसरे प्रयास में आईएएस की परीक्षा (Topper of UPSC in 2nd Attempt) में टॉप किया है। जब जागृति कोचिंग दिल्ली में लेने लगी थी तब लॉकडाउन लग गया और उन्हें भोपाल में आकर ही पढ़ाई की थी। उनकी माता पिता ने उनका सहयोग किया है। वह पहले 8 से 10 घंटे पढ़ाई करती थी, इसके बाद उन्होंने अपनी पढ़ाई कर बढ़ाकर 10 से 12 घण्टे कर दिया। वही आखरी के दो महीनों में उन्होंने 14 घंटे तक पढ़ाई की। पढ़ाई करने के लिए उन्होंने इंटरनेट (Internet) का सहारा भी लिया। यूपीएससी में टॉप करने वाली जागृति तैयारी कर रहे अभियार्थीयो को कहती है कि खुद को मोटिवेट (Self Motivation) करना जरूरी है। परिस्थिति चाहे कितनी भी मुश्किल हो हमें मुश्किलों को पार करके लक्ष्य की तरफ बढ़ते रहना चाहिए। सही प्लानिंग (Planning) के साथ अगर हम यूपीएससी की तैयारी करने उतरेंगे तो जरुर सफल होंगे। पॉजिटिव एटीट्यूड (Positive Attitude) के साथ किसी भी काम को करना जरूरी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >