पेट में किक क्यों मारते हैं बच्चे, ये खास बातें हर मम्मी को जाननी चाहिए!

नई दिल्ली: हर मां प्रेग्नेंसी के दौरान अपने बच्चे के किक मारने का इंतजार करती है। क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि बच्चा अगर पेट में किक मार रहा है तो वह पूरी तरह स्वस्थ है। लेकिन साथियों, क्या आप जानते हैं, बच्चा किक क्यों मारता है? दरअसल, मां की कुछ बातों और एक्टिविटीज पर बच्चा किक मारकर रिएक्ट है। तो आइए जानते हैं कि बच्चा अपनी मम्मी को पेट पर किक (baby kick in pregnancy in hindi) कर आखिर किस बात की ओर इशारा करता है।

child

बच्चे की सेहत: बच्‍चे के लात मारने का सबसे बड़ा संकेत तो यही है कि वो पेट में स्‍वस्‍थ है। अगर बच्चा पेट में लात नहीं मार रहा तो यह, चिंता की बात होती है। इसलिए अगर आपका बच्‍चा किक मार रहा है तो आप खुश हो जाएं कि वो पेट में बढ़ रहा है और एक्टिव है।

खाने का स्वाद लेते वक्त: अगर आप कुछ मसालेदार या चटपटी चीजें खा रहे हैं, और आपको पेट में झटका महसूस हो रहा है तो हो सकता है कि आपके बच्‍चे को स्‍पाइसी फूड पसंद ना आया हो। हालांकि, अगर कुछ खाने पर बच्‍चा उसी समय खुश होकर लात मारता है, तो हो सकता है कि बच्‍चे को खाने का स्‍वाद पसंद आया हो। इसका और स्‍वाद लेने के लिए बच्‍चा किक मार सकता है। इसके अलावा मां की आवाज सुनकर भी बच्‍चा किक मारता है। क्योंकि प्रेग्‍नेंसी के 18वें हफ्ते से बच्‍चा सुनना शुरू कर देता है। जब मां अपने बच्‍चे से बात करती है, तो उसके रिस्‍पॉन्‍स में बच्‍चा किक मारता है। जब बात करने पर बच्‍चा किक मारे तो समझ लें कि वो आपकी बात सुन रहा है।

baby kick in pregnancy in hindi

रोशनी की चमक: जब आपके पेट पर तेज रोशनी पड़ती है, तो बच्‍चा मूव करता है और किक मारता है। प्रेग्‍नेंसी के 33वें हफ्ते में शिशु की आंखों की पुतलियों का साइज रोशनी के प्रति बदल जाता है। इसका मतलब है कि अब बच्‍चा पहले से बेहतर तरीके से रोशनी को देख सकता है। लेकिन पेट में हलचल महसूस होने का मतलब सिर्फ यही नहीं है कि बच्चा किक मार रहा है। बल्कि शिशु को हिचकी आने पर भी मां को पेट में किक जैसा महसूस हो सकता है। अगर आपको 30 सेकंड से ज्‍यादा समय के लिए पेट में धीमी और रिदमिक किक महसूस हो रही है तो हो सकता है कि बच्‍चा हिचकी ले रहा हो।

womb child

कब लात मारना शुरु करता है बच्चा?

प्रेग्‍नेंसी के 16वें से 25वें सप्‍ताह के बीच मां को बच्‍चे की पहली मूवमेंट महसूस हो जाती है। अगर आप पहली बार मां बन रही हैं तो आपको गर्भावस्‍था के 25वें सप्‍ताह तक कोई मूवमेंट महसूस नहीं होगी। सेकंड प्रेग्‍नेंसी में कुछ महिलाओं को प्रेग्‍नेंसी के 13वें सप्‍ताह की शुरुआत में ही शिशु की मूवमेंट महसूस होने लगती है। बैठने, लेटने या शांत (baby kick in pregnancy in hindi) पोजीशन में रहने पर बच्‍चे की मूवमेंट ज्‍यादा महसूस हो सकती है।

सरकारी अस्पतालों में पैदा होने वाली बच्चियों को मिलेगा ‘गिफ्ट’!

 

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि