Connect with us

भोपाल

रेलवे की नौकरी छोड़ पकड़ी यूपीएससी क्रेक करने की जिद, तीन प्रयास में सफल पर IAS बनने तक नहीं रूके अभिषेक सराफ

Published

on

देश की सबसे कठिन परीक्षा में सफलता हासिल करने वाले आईएएस अधिकारियों के किस्से आपने सुने होंगे लेकिन आज हम एक ऐसे अफसर की बात करेंगे जिसने यूपीएससी परीक्षा को एक-दो नहीं पूरे 3 बार पास किया। हम ऐसे व्यक्ति की बात करेंगे जिन्होंने अपनी लगन के साथ अच्छी रैंक लाने के लिए दिन रात एक कर दिया। वहीं अफसर बनने के बाद भी उन्होंने काम के साथ यूपीएससी की तैयारी करना नहीं छोड़ा।

हम बात कर रहे हैं मध्यप्रदेश में भोपाल के रहने अभिषेक सराफ की जिन्होंने 2019 में ऑल इंडिया में 8वीं लेकर यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की।

पढ़ाई में भी होशियार थे अभिषेक

अभिषेक सराफ की बात करें तो उनकी प्राथमिक शिक्षा कैंपियन स्कूल व लौरिया कॉन्वेंट हाई सेकेंडरी स्कूल से हुई। इसके बाद अभिषेक ने आईआईटी की परीक्षा में 1768वी रैंक लेकर आईआईटी कानपुर से सिविल इंजीनियर की पढ़ाई की।

अपने आईआईटी की पढ़ाई के चौथे साल में ही उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर दिया था। साल 2014 में आईआईटी की पढ़ाई के बाद उन्होंने परीक्षा दी और 6वीं रैंक लेकर असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव आर्किटेक्ट बन गए।

विदेश में भी किया काम

आईआईटी की पढ़ाई के दौरान अभिषेक ने वर्जिनियां, अमेरिका, कनाडा में इंटर्नशिप की लेकिन वह कहते हैं कि इन देशों में इंटर्न करने के बाद भी उन्हें हमेशा से ही यूपीएससी परीक्षा की तरफ ज्यादा झुकाव था।

बिना कोचिंग के 3 बार परीक्षा में हासिल की सफलता

अभिषेक सराफ ने यूपीएससी की तैयारी करना शुरू कर दिया था और साल 2017 में उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा दी जिसमें उन्हें 402वीं रैंक हासिल हुई। अभिषेक को उस समय इंडियन डिफेंस एकाउंट डिपार्टमेंट मिला था और उन्होंने वहां नौकरी करना शुरू कर दिया था।

इसके बाद साल 2018 में अच्छी रैंक हासिल करने के लिए उन्होंने एक बार फिर यूपीएससी की परीक्षा दी तब उन्हें 248वीं रैंक हासिल हुई। अभिषेक को साल 2018 में इंडियन रिवेन्यू सर्विस विभाग मिला था और वह असिस्टेंट कमिश्नर के तौर पर चयनित हुए। उन्होंने एनसीआईएस फरीदाबाद से छुट्टी लेकर यूपीएससी की तैयारी की थी।

साल 2019 में अभिषेक ने एक बार फिर यूपीएससी की परीक्षा दी और इस बार ऑल इंडिया में 8वीं रैंक हासिल की। अभिषेक ने यूपीएससी की परीक्षा के दौरान विषय में भी इंजीनियरिंग के विषयों को चुना था।

ऐसे हासिल की परीक्षा में सफलता

अभिषेक सराफ अपनी कामयाबी के पीछे बताते हैं कि परीक्षा में ज्यादा से ज्यादा डेटा का उपयोग करना चाहिए। वे कहते हैं कि मैंने भी ज्यादा डेटा का उपयोग किया था।

वह कहते हैं कि फैक्ट का सही होना सबसे ज्यादा जरूरी है, वह आगे कहते हैं कि डेटा हमेशा नया होना जरूरी है। साथ ही अगर परीक्षा में उत्तर लिखते वक्त डायग्राम और फ्लोचार्ट बनाया जाता है तो इससे भी उत्तर पर प्रभाव पड़ता है।

दोस्त की मदद लेकर की तैयारी

अभिषेक सराफ ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उन्हें पहले कम नंबर आए थे जिसके बाद उन्होंने अपने दोस्त की मदद लेना सही समझा। अभिषेक के दोस्त भी आईपीएस अफसर है और उन्होंने उन्हीं से मदद लेकर तैयारी करना शुरू कर दिया था।

अभिषेक बताते हैं कि कंटेंट में हमेशा संतुलन होना जरूरी है, हमेशा उत्तर लिखते वक्त अपने विचार नहीं लिखने चाहिए। हमेशा दोनों पक्षों की बात करना सबसे ज्यादा जरूरी है। प्रेजेंटेशन पर हमेशा फोकस करना चाहिए कुछ नया पढ़ने से पहले जो पढ़ चुके हैं उस पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >