लाखों की अमेरिका की नौकरी छोड़ पिता के कहने पर बनी किसान अंकिता, आज खेती में कमाती करोड़ों रूपए

ऐसी बेटी की बात करेंगे जिसने अपने पिता के कहने पर अपने कई लाखो के पैकेज वाली नौकरी को छोड़ दिया। उन्होंने पिता के साथ व्यापार में हाथ बटाना सही समझा। उन्होंने पिता के साथ दिन-रात एक करके मेहनत की और पिता के व्यापार को आसमान तक ले गई। हम बात कर रहे हैं राजस्थान के अजमेर की रहने वाली अंकिता कुमावत की।

अंकिता कुमावत की शिक्षा की बात करें तो उन्होंने साल 2009 में आईआईएम कोलकाता से एमबीए किया था। आईआईएम से ग्रेजुएट होने के बाद अंकिता की नौकरी अमेरिका और जर्मनी जैसे देशों में लग गई थी। वह 5 साल तक इन देशों में नौकरी कर चुकी है।

बचपन मे हुआ कुछ ऐसा, जो अब बन गया कामयाबी का रास्ता

अंकिता कुमावत की बात करें तो जब वह 3 साल की थी तब उन्हें जॉन्डिस की बीमारी हो गई थी। जिसके बाद डॉक्टर ने उन्हें और उनके परिवार वालों को सलाह दी थी कि अंकिता को शुद्ध दूध और शुद्ध खाना खिलाया जाए तो अंकिता ठीक हो सकती है। इसके बाद उनके परिजनों ने एक गाय पाली थी और अंकिता को शुद्ध खिलाना शुरू कर दिया था। अंकिता कुछ दिनों के बाद उस बीमारी से उभर कर ठीक हो गई थी। लेकिन उनके पिता को इसी दौरान शुद्ध प्रोडक्ट उत्पाद बनाने का विचार आ गया था उनके पिता इंजीनियर थे और वह नौकरी छोड़कर खेती नहीं कर सकते थे। लेकिन वह नौकरी के साथ खेती किया करते थे।

बेटी की नौकरी के बाद शुरू की खेती

अंकिता कुमावत के पिता ने अंकिता की नौकरी लगने के बाद खुद की नौकरी छोड़ कर खेती करना शुरू कर दिया था। उन्होंने और गाय खरीद कर ऑर्गेनिक खेती पर जोर देना शुरू कर दिया था। अंकिता के पिता ऑर्गेनिक फूड और फार्म का काम शुरू करना चाहते थे। वह कई सालों तक इसी पर काम करते गए। लेकिन अंकिता के पिता को एक सहारे की जरूरत थी और उन्होंने अंकिता को अमेरिका से नौकरी छोड़कर आने के लिए कह दिया था।

पिता के कहने पर छोड़ दी नौकरी, आज कमाते हैं लाखों

अंकिता कुमावत ने अपने पिता के कहने पर अमेरिका की नौकरी को छोड़ दिया था। वह साल 2014 में अमेरिका से भारत वापस लौट आई थी और उन्होंने अपने पिता के साथ खेती और डेयरी फार्म का काम करना शुरू कर दिया था। अंकिता ने इसके लिए न्यू टेक्नोलॉजी पर फोकस किया था। उन्होंने सोलर सिस्टम के अलावा टेक्निक के विकास करने के लिए भी काम करना शुरू कर दिया था। अंकिता ने इसको लेकर ट्रेनिंग भी ली थी और मार्केटिंग पर फोकस किया था।

रंग ले आई मेहनत

अंकिता कुमावत की मेहनत आज रंग ले आई है। 7 साल में अंकिता कुमावत और उनके पिता के व्यापार का कुल टर्नओवर 1 करोड़ के आसपास है। आपको बताए तो अंकिता ने प्रोसेसिंग यूनिट भी लगाई हुई है। अंकिता के पिता और अंकिता की कंपनी के कई उत्पाद आज बाजार में उपलब्ध है। जिसमें घी, मिठाई, शहद,  नमकीन,ड्राई फ्रूट, मसाले, दाल आदि उत्पाद तैयार किए जाते हैं। कुल मिलाकर अंकिता और उसके पिता कुल 25 तरह के उत्पाद तैयार करते हैं। साथ ही अंकिता के पिता की इस व्यापार में 100 लोग काम करते हैं। वही अंकिता के पिता ने आज 50 गाय भी ले ली हैं।

अंकिता कुमावत की कहानी हम सभी के लिए प्रेरणा देने वाली कहानी हैं। उन्होंने साबित किया कि देश में रहकर खेती से जुड़ कर भी अच्छा कमाया जा सकता है। देश में अगर सही तरीके से शिक्षा और समझ हो तो किसी भी काम को बेहतर ढंग से किया जा सकता हैं।

Add Comment

   
    >