10वीं में माता-पिता को खोया- डिप्रेशन से बाहर आया और फिर बन गया मोटिवेशनल स्पीकर और प्रोफेसर

Motivational Speaker Bhuvnesh Swami: कहते हैं अगर कुछ कर गुजरने का जज्बा रख लिया तब कोई मजबूरी आपकी मंजिल में बाधा नहीं बन सकती। बीकानेर के जाने-माने मोटिवेशनल स्पीकर भुवनेश स्वामी (Bhuvnesh Swami) ने भी अपनी सफलता का रास्ता इसी प्रकार चुना वह आज स्कूल में व्याख्याता हैं। उनका चयन 21वीं रैंक के साथ अंग्रेजी के असिस्टेंट प्रोफेसर के साथ चयन हुआ है। वर्तमान में वह बीकमपुर के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में इंग्लिश के व्याख्याता हैं।

भुवनेश ने गांव के ही एक सरकारी स्कूल में पढ़ाई की, जब वह 10वीं क्लास में थे तब उनके माता-पिता का देहांत हो गया था। उस वक्त भुवनेश बेहद अकेले हो गए थे, यही कारण रहा कि वह गहरे अवसाद में चले गए। लेकिन वह जानते थे, वक्त में उतार-चढ़ाव लाजिमी है। धीरे-धीरे उन्होंने आगे बढ़ना शुरू किया और किसी तरह इस वक्त से गुजरे। पिछले दिनों हनुमानगढ़ पुलिस (Hanumangarh Police) ने भुवनेश को  जवानों को मोटिवेट करने के लिए बतौर गेस्ट लेक्चर देने के लिए बुलाया था। भुवनेश ने इसके लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया।

भुवनेश बताते हैं कि उनकी माता सरोज स्वामी जैसलमेर गांव में सरकारी नर्स की नौकरी किया करती थीं। दसवीं क्लास में उनका कैंसर के चलते देहांत हो गया, लेकिन वक्त की मार अभी कहां रुकने वाली थी, वह थोड़ा उभरे ही थे कि पिता ने साथ छोड़ दिया। इसके बाद तो भुवनेश बिल्कुल टूट ही गए। बीकानेर में कुछ लोगों ने उनकी पढ़ाई में मदद की और वह इस तरह से आगे बढ़े।

Motivational Speaker Bhuvnesh Swami

भुवनेश ने जल्द ही बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर दिया। वह ट्यूशन की फीस से किसी तरह अपना खर्च चलाते। उन्होंने किशोर सिंह राजपुरोहित को बिना फीस के इंग्लिश पढ़ाई। वह माता-पिता के जाने के गम को भुला नहीं पाए थे। लेकिन वह समय के चक्र में फंसकर खुद को तोड़ना नहीं बल्कि उससे निकलकर आगे बढ़ना चाहते थे।

उन्होंने खुद को समझाया कि उनके माता-पिता ने कभी ऐसा नहीं सोचा कि उनके हालात ऐसे हों, इस तरह वह थोड़े पॉजिटिव हुए और उन्होंने मोटिवेशनल स्पीच सुनना शुरू किया, जिसके बाद भुवनेश ने अपनी कम्युनिकेशन स्कील्स पर भी काम किया। भुवनेश धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे थे, उन्होंने अपने जीवन को थोड़ा प्रैक्टिकल किया और अपने प्रेरक वीडियो बनाकर यू-ट्यूब चैनल पर अपलोड करना शुरू किया।

भुवनेश (Motivational Speaker Bhuvnesh Swami) बताते हैं कि दो साल कड़ी मेहनत के बाद वह इंग्लिश में एक्सपर्ट हो गए। वह एक वाकया बताते हुए कहते हैं कि एक वक्त ऐसा था जब उनके पास पुस्तक खरीदने के पैसे नहीं हुआ करते थे, ऐसे में उन्होंने एक पुस्तक को एक दिन के लिए उधार लिया और उसे एक नोट बुक में उतार लिया।

वह बताते हैं कि विद्यार्थियों की हर समस्या का समाधान करने के लिए वह काम कर रहे हैं और यही उनका लक्ष्य है, वह कहते हैं कि वह बच्चों से गरीबी के बावजूद पढ़ाई जारी रखने, प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी का मार्गदर्शन, मोबाइल एडिक्शन से बचने के तरीके साझा करते हैं। वह कहते हैं सार्वजनिक मंच पर बोलने यानी पब्लिक स्पीच सिखाने और मोटिवेशन के जरिए वह विद्यार्थियों का जीवन बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- पिलानी थानाधिकारी रणजीत सिंह की बेटी प्रियंका ने CDS-2 परीक्षा में जड़ा कीर्तिमान- पाई 4th रैंक

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि