Connect with us

बीकानेर

बीकानेर जिले का निलंबित थानाधिकारी राणीदान चारण हुआ ला’पता, ACB और पुलिस की तला’श जारी

Published

on

बीकानेर: गंगाशहर थाने का थानेदार राणीदान कई दिनों से लापता है। बता दे कि राणीदान पर चप्पल से नकल कराने (REET Paper Leak) के मामले में गिरफ्तार अभियुक्त की जमानत पर उसका सामान लौटाने के नाम पर एक लाख रुपए की रिश्वत मांगने का मामला है। अभी तक उसका कोई सुराग नहीं मिला पाया है।

राणीदान से पुलिस का अभी तक कोई संपर्क नहीं हो पाया है। कल से फरार चल रहे राणीदान पर चल रहे गंभीर आरोपों को देखते हुए उसे सस्पेंड कर दिया गया है। वही, पुलिस राणीदान से संपर्क करने का प्रयास कर रही है लेकिन उसका फोन बंद आ रहा है।

क्या है पूरा मामला?

राणीदान चारण गंगाशहर थाने के सीआई है। जिस पर चप्पल से नकल कराने और रिश्वत लेने का मामला दर्ज है। दरअसल, राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा में चीट की चप्पल 30 -30 हजार में बिकी थी। इस चीट की चप्पल में डिवाइस लगाकर ब्लूटूथ से नकल कराने की साजिश की गई थी। इस मामले के बाद से राणीदान गायब है।

गंगाशहर थानाधिकारी राणीदान सहित तीन और पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है और इसी के साथ राणीदान चारण को निलंबित भी किया जा चुका है। राणीदान ने न सिर्फ रिश्वत मांगी है बल्कि खुद पुलिस के ही सिपाही के साथ मारपीट भी की है। इसके साथ ही रिश्वत मांगने की पुष्टि का रिकार्ड एसीबी (Anti Corruption Bureau) के पास उपलब्ध है।

फिर खुलेंगी फाइलें!

बीकानेर रेंज पुलिस महानिरीक्षक प्रफुल्ल कुमार ने राणीदान उज्जवल की करतूत को पुलिस विभाग के लिए शर्मनाक बताया है। इसी के साथ उन्होंने कहा है कि पिछले डेढ़ – दो सालों में राणीदान ने जिन – जिन मामलों में तफ्तीश की है, उनको दोबारा से खोला जा सकता है। इनमें हथियार से जुड़ा मामला और एनडीपीएस एवं जमीन संबंधी मामला भी हो सकता है।

अब क्या होगा आगे?

अब राणीदान पर राजकार्य में बाधा डालने के साथ – साथ ACB की कार्रवाई भी की जाएगी। पुलिस उससे संपर्क करके इस मामले में राणीदान को गिरफ्तार कर सकती है। साथ ही अगर ACB ने इस मामले को गंभीरता से लिया तो राणीदान के सभी बैंक खातों के साथ – साथ कई तरह की छानबीन भी हो सकती है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >