Connect with us

चूरू

मॉडलिंग की चकाचौंध से निकल बनी अफसर IFS ऐश्वर्या श्योराण का सफर, बनी बेस्ट प्रशिक्षु अधिकारी

Published

on

आज हम आपको राजस्थान के एक ऐसी बेटी की कहानी बताएंगे जिसने रैंप वॉक से अपना करियर सिविल परीक्षा को चुन लिया। आज की कहानी हम आपको बताएंगे ऐश्वर्या श्योराण की। ऐश्वर्या का जन्म 11 मार्च 1997 को हुआ। उनका परिवार राजस्थान के चूरू जिले के राजगढ़ उपखंड के गांव चुंबकीया ताल का रहने वाला हैं। उनके पिता अशोक कुमार भारतीय सेना में 9वी बटालियन करीमनगर तेलंगाना में कमांडेंट ऑफिसर के तौर पर तैनात हैं।

कर्नल अजय श्योराण की बेटी ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है, अभी ऐश्वर्या भारतीय विदेश सेवा (IFS) की प्रशिक्षु अधिकारी (ट्रेनी अफसर) के पद पर है और अभी कुछ दिन पहले ही ट्रेनिंग के दौरान भारतीय विदेश सेवा (IFS) के अधिकारियों में प्रथम रैंक प्राप्त कर गोल्ड मेडल प्राप्त कर पूरे जिले और राज्य का नाम रोशन कर दिया। उनकी इस उपलब्धि पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिल्ली स्थित सुषमा स्वराज विदेश सेवा संस्थान में गोल्ड मैडल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

इससे पहल भीे 2020 बैच की भारतीय विदेश सेवा की प्रशिक्षु अधिकारी ऐश्वर्या को बेस्ट ट्रेनी का अवार्ड मिल चुका है। ऐश्वर्या श्योराण ने ये उपलब्धि बगैर किसी कोचिंग संस्थान के स्वयं के प्रयासों से सिविल सर्विसेज में अपनी सफलता प्राप्त की और बहुत सारे रिकॉर्ड अपने नाम कर पूरे मुल्क का नाम रोशन कर दिया।

ऐश्वर्या श्योराण की जीवन की कुछ बातें:

ऐश्वर्या की बात करें तो ऐश्वर्या की पढ़ाई संस्कृति स्कूल नई दिल्ली से हुई। उन्होंने 97.5% अंक लाकर टॉप किया,इसके बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से इकोनॉमिक्स ऑनर्स की पढ़ाई की। उनकी उपलब्धियों की बात करें तो 2018 में उनका सिलेक्शन आई.आई.एम इंदौर में हो गया था। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने सिविल परीक्षा को अपना करियर चुनने की ठानी। साथ ही आपको बताएं ऐश्वर्या फेमिना मिस इंडिया 2016 की फाइनल लिस्ट में से एक रह चुकी है।

वह 2015 में मिस दिल्ली का खिताब जीत चुकी है। 2014 में क्लीन एंड क्लियर फ्रेश फेस 2014 दिल्ली में खिताब जीत चुकी है। वहीं विश्व के सबसे बड़े फैशन शो लैक्मे फैशन वीक शो में 2016 मुंबई में चुनी गई एकमात्र नई मॉडल थी। इस सभी के बावजूद ऐश्वर्या ने साल 2018 में सिविल परीक्षा देने की ठानी और घर में रहकर 10 महीने की लगातार पढ़ाई के बाद पहले ही प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा पास कर ली। अब वह इंडियन फॉरेन सर्विस यानी आईएफएस ऐश्वर्या श्योराण बन चुकी है। ऐश्वर्या श्योराण 4-अगस्त-2020 को यूपीएससी की परीक्षा में 93वी रैंक लेकर आईएएस अफसर बनी थी।

अभिनेत्री के नाम रखा गया नाम :

एक इंटरव्यू के दौरान ऐश्वर्या श्योराण ने बताया कि जब ऐश्वर्या राय मिस यूनिवर्स बनी थी,तब उनकी मां ऐश्वर्या राय से प्रभावित होकर अपनी बेटी का नाम भी ऐश्वर्या रखना चाहती थी। उनकी मां का सपना था कि ऐश्वर्या राय की तरह ऐश्वर्या श्योराण भी मॉडलिंग करे। अपनी मां के सपने को पूरा करने के लिए ऐश्वर्या श्योराण ने भी मॉडलिंग के कई कंपटीशन जीते है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >