चूरू में लंपी का संक्रमण, कई जगह एक्टिव सामाजिक टीमें ~ प्रशासन नही कर रहा कोई पुख्ता इंतजाम

Churu News : चूरू (CHURU) जिले में इन दिनों लंपी स्किन बीमारी (Lumpy Skin Disease) से ग्रसित पशुधन की संख्या लगातार बढ़ रही है ऐसे में पशुपालकों के साथ-साथ आवारा गोवंश को भी यह बीमारी अपनी चपेट में ले रही है। ऐसे में प्रशासन द्वारा माकूल व्यवस्था नहीं होने के चलते अब सामाजिक लोग सामने आकर युवाओं की सहायता से इस बीमारी पर पार -पाने में लगे हैं। जहा सेवा भावी लोग बड़ी चाव से रात-दिन मेहनत कर के विभिन्न स्थानों पर जाकर लंपी ग्रसित गायों की देखरेख कर रहे हैं। वहीं इस मामले में तारानगर (Taranagar) के लोग भी पीछे नहीं है यहां बालाजी गौ सेवा समिति (Balaji Gau Seva Samiti) के युवाओ ने इस मोर्चे को संभाल रखा है इससे पहले भी समिति के सदस्य कहीं भी घायल या बीमार पशुओं को लगातार ईलाज उपलब्ध करवाते रहें हैं।

समिति के सदस्य पवन उर्फ छोटूराम स्वामी ने बताया कि वर्तमान समय में लंपी स्किन बीमारी (Lumpy Skin Disease in Churu) की वजह से कस्बें सहित आसपास के क्षेत्र में गायों की हालात खराब होने लगे है गली -मोहल्ले में रहने वाले असहाय गोवंश के लिए यह समस्या और ज्यादा गंभीर बनी हुई है वे एक- दूसरे के संपर्क में बैठते हैं जिससे संक्रमित हो रहे हैं समिति के सदस्य ने बताया कि हमने पहले से ही एक व्हाट्सएप ग्रुप बना रखा है जिसमें हमें सूचना प्राप्त होते ही हमारे सदस्यों को सूचित कर दिया जाता है वर्तमान समय में बीमारी के कारण काफी गायों का हमने देसी इलाज सरकार व प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार किया है।

इसके साथ ही हम पशु चिकित्सक भी साथ रखते हैं जो हमें गायों के ट्रीटमेंट के बारे में सलाह देते हैं या खुद आकर इंजेक्शन वगैरह लगाते हैं इसके अलावा टीम लंपी (Lumpy in Churu) से ग्रसित पशुओं को क्वॉरेंटाइन करते हैं ताकि दूसरे पशुओं में यह बीमारी न फैले। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में खेती-बाड़ी का समय चल रहा है जिसके कारण लोग पशुधन खेत या चराने के लिऐ बाहर ले जाते है। इस वजह से पशुओं के संक्रमित होने का खतरा ज्यादा रहता है। टीम के सदस्यों ने समस्या रखते हुये बताया कि वर्तमान समय में फैली बीमारी के कारण पशुओं को एक- दूसरे से दूरी पर रखना पड़ता है इसलिए जगह का अभाव है यदि प्रशासन या कोई सामाजिक व्यक्ती उन्हे चारदिवारी वाली जगह उपलब्ध करा दे तो उनके लिए पशुओं का इलाज करने में आसानी रहेगी।

टीम में सोनू जांगिड़, पवन स्वामी, गोविन्द सरावगी,श्याम पारीक,अभिषेक शर्मा,नवीन सैन, प्रवीण सैन, विकाश धेरड़, मुकेश नाई, अंजनी स्वामी, टिंकू शर्मा, मुकेश जमादार, डा. नरेश दाधीच, कुलवीर जांगिड़, वरुण चाहर,जोगेंद्र सिंह, नवदीप सिंह, सुमित शर्मा, बंटी सैनी, नरेश सैनी पवन जांगिड, विनोद जांगिड, वेदप्रकाश जांगिड, सोनू शर्मा दानू शर्मा, बलवान प्रजापत आदि लोगों सहित टीम के 20 सदस्य हर समय की तैयार रहते है। वह आपको बताते चलें कि लंपी स्किन बीमारी क्षेत्र में पांव पसार रहे हैं लेकिन प्रशासनिक स्तर पर कोई पुख्ता इंतजामात अब तक दिखाई नहीं दे रहे हैं ऐसे में सामाजिक संगठनों के लोगों से ही क्षेत्र के लोग अपेक्षा कर रहे हैं।

रिपोर्ट मनोज शर्मा

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि