Connect with us

चूरू

अपनी ही बेटी को बेचने वाली मां को पुलिस ने किया गिरफ्तार..कोर्ट ने 3 दिन के रिमांड पर भेजा

Published

on

Shreedungar maa beti

मां और उसके बच्चों का रिश्ता अनमोल रिश्ता माना जाता है। लेकिन कई बार कुछ ऐसी घटनाएं सामने आती है, जो इस रिश्ते पर सवाल खड़ा करती है। ऐसी एक घटना सामने आई है राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ (Shree Dungargarh) से, श्री डूंगरगढ़ शुरू में पुलिस ने एक ऐसी आरोपी महिला को गिरफ्तार किया है जिसने अपनी बेटी को एक नहीं दो नही तीन बार बेचने की कोशिश की। पैसों के लिए आरोपी मां अपनी बेटी को लोगों को बेचकर पैसा कमाती थी। लेकिन अंत में उसकी बेटी ने अपनी मां के चुंगल से निकलकर पुलिस में एफ.आई.आर (FIR) दर्ज कराई और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट में पेश होने के बाद आरोपी मां को पुलिस के 3 दिन रिमांड पर भेजा गया है।

पूरा मामला

पूरे मामले की बात करें तो बिहार के मधुबनी (Madhubani) की 20 साल की लड़की ने एफ.आई.आर दर्ज करावाई थी। जिसमें बताया गया है कि उसकी मां उसके पिता से कई साल पहले अलग हो गए थे। जिसके बाद मां ने जयपुर के हेमंत शर्मा के साथ मिलकर 2019 में अपनी 20 साल की बेटी को चाकसू (Chkasu) निवासी योगराज शर्मा को बेच दिया था। योगराज शर्मा ने 20 साल की पीड़िता को बंधक बनाकर रखा और उसके साथ कई बार बला’त्कार किया। एसएचओ सतपाल सिंह (SHO Satpaal)  के मुताबिक इसके बाद आरोपी मां ने योगराज शर्मा से पैसों की मांग की और योगराज शर्मा ने पैसे देने से मना कर दिया। जिसके बाद आरोपी मां अपनी पीड़िता बेटी को लेकर वहां से निकल गई और उसके बाद मां ने श्री डूंगरगढ़ में अमरचंद उर्फ छोटू लाल से दोस्ती कर ली। साल 2021 अप्रैल में छोटू लाल नायक के साथ मिलकर चूरू के धिरासर (Dheerasar) निवासी वासुदेव शर्मा व अन्य को अपनी बेटी को बेच दिया। वासुदेव शर्मा ने उस पीड़िता के साथ 6 महीने तक बला’त्कार किया।

shree dungargarh police

पैसे की मांग

इसके बाद आरोपी मां ने चूरू जिले (Churu)  के धिरासर निवासी वासुदेव शर्मा से 6 महीने के बाद और पैसों की मांग की। जो पैसे वासुदेव शर्मा ने पहले दिए थे वह उसके पास खत्म हो गए थे। वासुदेव शर्मा ने इसके बाद पैसे देने से मना कर दिया और मां अपनी बेटी को वासुदेव के चुंगल से छुड़वा कर ले गई। बाद में तीसरी बार एक बार फिर चूरू में ही एक व्यक्ति को बेचने को वह तैयार हो गई। लेकिन इसके बाद उस पीड़िता ने हिम्मत दिखाई और किसी तरीके से अपनी मां के चंगुल से छूटी और सीधा महिला थाने में पहुंचकर एफ.आई.आर दर्ज करवाई। इसके बाद महिला थाना (Women Cell)  प्रभारी एसएचओ सतपाल सिंह ने आरोपी मां को गिरफ्तार किया और कोर्ट में पेश होने के बाद कोर्ट ने आरोपी मां को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

मां का रिश्ता नही बताती थी

महिला थाना प्रभारी सतपाल सिंह के मुताबिक आरोपी मां अपनी बेटी से मां बेटी का रिश्ता नहीं रखती थी। वह जब भी अपनी बेटी को किसी व्यक्ति को बेचती थी तब उसे अपनी बहन की बेटी बता कर बेचती थी। पीड़िता को मौसी बोलने के लिए कहा गया था। साथ ही एसएचओ सतपाल सिंह के मुताबिक आरोपी मां को जब पता लगाकर पुलिस उसके पीछे है तो वह बिहार भागने की फिराक में थी। लेकिन वह बिहार भाग पाती इससे पहले ही पुलिस को एक बड़ी कामयाबी मिल गई।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >