Connect with us

चूरू

चूरु का मनसा माता मंदिर जहां महाभारत के युद्ध से पहले युधिष्ठिर ने मांगा था जीत का वरदान

Published

on

राजस्थान के चूरू जिले में लोगों की मनसा माता के प्रति गहरी आस्था है. जिले के बीचोंबीच बना यह मंदिर काफी ऊंचाई पर स्थित है जिसका स्थापना दिल्ली के शासक महाराजा उदय सिंह ने आज से करीब 550 साल पहले की थी।

बताया जाता है कि एक बार महाराजा उदय सिंह एक घने जंगल से घूमते हुए जा रहे थे तो उनको एक जोत दिखाई दी जिसके बाद महाराजा ने तुरंत बीकानेर से 51 ईंटे मंगवाकर यहां मनसा माता मंदिर की स्थापना करवा दी। देखते ही देखते यहां कई जगहों से तपस्वी आने लगे और अपना भोजन तैयार करते थे और आने जाने वाले मेहमानों को भी खिलाने लगे।

चूरमा बनाते हुए नाम पड़ आया चूरु

मंदिर को लेकर एक किस्सा प्रचलित है कि एक दिन यहां एक तपस्वी ने कहा कि आज चूरमा बनाएंगे. चूरमा बनाते हुए एक ने कहा कि मैं घी डालूं तो दूसरे ने कहा कि मैं चूरू हूं। कहा जाता है कि ऐसे ही बातों बातों में शहर बसाने और उसका नामकरण हुआ।

तंवरों की कुलदेवी है मनसा माता

मनसा माता तंवर गौत्र की कुलदेवी है और माता का मंदिर हरिद्वार तथा चंडीगढ़ में भी है। राजस्थान में मनसा माता के 5 मंदिर बताए जाते हैं जिनमें चूरू का एक मंदिर भी है।

मनसा माता का इतिहास

मनसा माता भगवान शिव और माता पार्वती की पुत्री है, इनका प्रादुर्भाव मस्तक से हुआ है जिसके कारण इनका नाम मनसा पड़ा। बताया जाता है कि महाभारत के अनुसार इनका वास्तविक नाम जरत्कारु है। वहीं इनके समान नाम वाले पति महर्षि जरत्कारु तथा पुत्र अस्तित्क हैं। इनके भाई बहन गणेश, कार्तिक,  देवी अशोक सुंदरी, देवी ज्योति और भगवान अय्यप्पा है।

मनसा माता मन का अंश,

विश्वास करके देखो मिटे हर दंश।

विश्वास की शक्ति और सत मार्ग हो,

मिट गया था शक्तिशाली कंस।

मनसा देवी मुख्यतः सर्पों से आच्छादित तथा कमल पर विराजित हैं। सात नाग उनके रक्षण में सदैव विद्यमान हैं। कई बार देवी के चित्र तथा भित्ति चित्रों में उन्हें एक बालक के साथ दिखाया गया है, जिसे वे गोद में लिए हुए हैं। वह बालक देवी का पुत्र आस्तिक है।

बता दें कि राजा युधिष्ठिर ने भी माता मनसा की पूजा की थी जिसके फलस्वरूप वह महाभारत के युद्ध में विजयी हुए। आज भी जहां युधिष्ठिर ने पूजन किया वहां सालवन गांव में भव्य मंदिर का निर्माण किया गया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >