Connect with us

चूरू

प्रिया पूनिया की टीम इंडिया में चयन की कहानी,पिता ने 22 लाख का घर बेच खेत में बनाया क्रिकेट मैदान

Published

on

चुरू जिले की प्रिया पुनिया की कहानी हम आपको आज बताएंगे। प्रिया पुनिया का जन्म 6 अगस्त 1996 को हुआ। उनका परिवार राजस्थान के चुरू जिले के सादुलपुर तहसील के गांव जणाऊ खारी का रहने वाला है। प्रिया पुनिया इस समय में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की हिस्सा है। आपको बताएं उनके पिता का नाम सुरेंद्र पूनिया हैं। वह भारतीय संरक्षण विभाग में हेड क्लर्क है और इस समय जयपुर में कार्यरत है।

सुरेंद्र पूनिया बताते कि बचपन से पढ़ाई के साथ-साथ प्रिया पुनिया का लगाव खेल की तरफ भी था। वह जब 6 साल की थी तब से ही क्रिकेट का बैट थाम कर क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया। प्रिया पुनिया ने अपनी प्राथमिक शिक्षा, शिक्षा भारती स्कूल दिल्ली से की उन्होंने 12वीं कक्षा में 92% अंक प्राप्त किए। इसके बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के जीसस एंड मैरी महाविद्यालय से बीकॉम की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद प्रिया पुनिया का सिलेक्शन क्षेत्रीय क्रिकेट टीम में हो गया था। प्रिया पुनिया दाएं हाथ की ओपनिंग बल्लेबाज है।

प्रिया के आंकड़ों की बात करें तो उन्होंने 9 अक्टूबर 2019 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए अपना कदम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में रखा। इसी के साथ ही 6 फरवरी 2019 को न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने अपना पहला T20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला।

वनडे में बात करें तो उनके नाम सात मैचों में 37.50 की औसत से 222 रन है। जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 76 रन का है। पिछले साल प्रिया वूमेन T20 चैंपियनशिप में भी खेलती हुई नजर आई थी। वह मीडिया में चर्चा में तब आई जब उन्होंने महिला क्रिकेट चैंपियनशिप में तमिलनाडु और गुजरात के खिलाफ शतकीय पारी खेली।

उनके पिता बताते हैं कि प्रिया को प्रैक्टिस के लिए उन्होंने जयपुर में अपना मकान 22 लाख रुपयो में बेच दिया और चौमू में एक जमीन खरीदी और उसे एक मैदान के तौर पर तैयार करवाया। जिसके पीछे कारण था कि प्रिया अपनी मैच की प्रैक्टिस कर सकें। प्रिया इस समय में भारतीय महिला टीम का और देश के हर नागरिक को उन पर नाज है। उनको भारतीय जर्सी में खेलता देख,उनके परिवार के साथ उनके गांव के हर व्यक्ति का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। साथ ही आपको बताएं कि प्रिया पुनिया टी20 विश्व कप के लिए भी महिला टीम में चुनी जा चुकी है। जो उनके परिवार के लिए गौरव की बात है।

हम उम्मीद करते हैं प्रिया आने वाले सभी मैचो में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगी और अपने परिवार के साथ भारत का नाम यूही रोशन करती रहेंगी।

   
    >