Connect with us

राजस्थान

भारत-पाक सीमा पर बसे गांवों की गहलोत सरकार ने ली सुध, 75 साल बाद मिलेगा लोगों को साफ पानी

Published

on

देश को आजादी मिले 75 साल पूरे हो गए हैं, हाल में हमनें 15 अगस्त का जश्न मनाया है लेकिन क्या आपको पता है भारत-पाक सीमा पर बसे सैकडों किलोमीटर लंबे रेगिस्तान में आज भी हमारे लोग दूषित पानी पीने को मजबूर हैं।

रेगिस्तान जैसे बंजर इलाके में आप समझ सकते हैं पानी की क्या अहमियत होती है और एक बूंद भी वहां किसी अमृत से कम नहीं है। सरकारी विभाग कहने को इलाके में फिल्टर लगे होने की बात कहता है लेकिन हालात जस के तस हैं।

सीमांचली इलाकों में बसे लोगों को राहत देते हुए अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अहम फैसला किया है। राजस्थान सरकार ने जल जीवन मिशन के तहत एक बड़ी सौगात देते हुए 600 करोड़ रुपये का बजट आवंटन किया है।

सरकार की इस योजना में पीएचडी की मदद से गांव वालों को घर बैठे शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जाएगी। मालूम हो कि दूषित पानी की समस्या को लेकर स्थानीय ग्रामीणों लंबे समय से सरकार से मांग कर रहे थे।

सरकार के ऐलान के बाद ग्रामीण रामेश्वर ने कहा कि यहां के लोग सालों से गंदा पानी पी रहे हैं जिससे गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों ने कहा कि गहलोत सरकार की इस योजना से हमें अब साफ पानी मिलने की उम्मीद जगी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >