हजारे के फूलों की खेती कर कमाएं कम लागत में बड़ा मुनाफा

Rajasthan: जयपुर जिले के जैतपुरा (Jaitpura) भूरथल निवासी किसान रामवतार सैनी पिछले 15 सालों से हजारे के फूलों (Hazare’s flowers ) की खेती कर रहे हैं। रामवतार सैनी हजारे के विभिन्न किस्मों के फूलों की खेती करते हैं। हजारे के फूलों की खेती से उन्हें बेहद कम लागत और मेहनत में अधिक मुनाफा मिल रहा है। इसमें सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे अवारा पशु नही खाते हैं और रोग भी इसमें बहुत कम लगते है। पौधे को चार दिन में एक बार पानी देना पड़ता है।

गुलदावरी सबसे महंगी किस्म का है फूल

Rajasthan

हजारे फूलों में गुलदावरी (Guldawari) सबसे महंगी किस्म का फूल है। चौथमल सैनी के मुताबिक कलकत्ती हजारा, हाईब्रिड पीला, ऑरेंज साल भर चलते हैं। गुलदावरी साल में दो बार होती है और इसकी मांग दिल्ली, अहमदाबाद, जयपुर, सुरत, मुंबई जैसी जगहों पर है। हजारे की पौध लगाने के पचास दिन के बाद फूल आने शुरू हो जाते हैं। फूल तोड़ने के बाद अन्य जगहों पर फिर से जमीन पर पौध लगा दी जाती है। तब तक लगाई गई पौध से फूल आने शुरू हो जाते है। खेत की बुआई जुताई कर उस में ड्रिप के पाइप बिछा दिए जाते हैं। इसके बाद हजारे की पौध लगाई जाती है।  सालों भर इसकी खेती चलती है। (Hazare’s flowers) यह एक कम लागत में अधिक मुनाफा कमाने वाला कृषि व्यवसाय है।

कृषि से पीएचडी कर गांव का यह लड़का खाद बनाकर कमा रहा लाखों रुपए, आप भी जानें यह तकनीक

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि