कहानी जयपुर के 175 साल पुराने विंटेज कैमरे की, पुश्तैनी परंपरा को संभाले हुए है कैमरामैन!

Jaipur Old Camera Wala: आज का दौर सेल्फी और डीएसएलआर (DSLR) कैमरों का है। यही कारण है कि लोग शौक से फोटो खींचते और खिंचाते हैं, मौजूदा दौर में लोगों को किसी कैमरापर्सन की जरूरी नहीं है, वे यह हुनर अब खुद के हाथों में रखने लगे हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे फोटोग्राफर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो एक पारंपरिक और अनोखे ढंग से एक पुराने कैमरे से लोगों की तस्वीरें लिया करते हैं।। खास बात यह है कि इन अनोखे फोटोग्राफर (Vintage Camera in Jaipur) और इनके कैमरे की चर्चा इतनी है, कि यह देखने के लिए लोग दूर-दूर से आकर फोटो खींचवाते हैं। इन बेहद रंगीन, अनुभवी और दिलदार फोटोग्राफर का नाम है टिकम पहाड़ी (Tikam Pahadi)।

cameraperson

टिकम पहाड़ी फोटोग्राफर, पिछले 40 सालों से हवा महल (Hawa Mehal) के पास स्ट्रीट फोटोग्राफर का काम कर रहे हैं। इसी जगह पर उनके दादा जी और पिताजी भी काम किया करते थे। फोटोग्राफी का यह काम 175 साल पुराने कैमरे से किया जाता है, जिसके जरिए फुटपाथ और जयपुर की गुलाबी गलियों में पर्यटकों की तस्वीरों को कैद किया जाता है। टिकम बताते हैं कि यह कैमरा उनके दादा जी ने जर्मनी से मंगवाया था, उनके दादा को फोटोग्राफी करने का बहुत शौक था, जिसे दादा ने व्यवसाय में बदला और आज यह व्यवसाय पुश्तैनी बन चुका है।

jaipur camera

स्ट्रीट फोटोग्राफर टिकम पहाड़ी बताते हैं (Jaipur Old Camera Wala) कि जब वह छोटे थे तो वह पिता जी को खाने देने के लिए आते थे, और फिर यहीं से उनको फोटोग्राफी का शौक लग गया, जिसके बाद उन्होंने भी इसी क्षेत्र में कदम बढ़ाया। वह कहते हैं कि जर्मनी से आए इस कैमरे को पहले दादा जी, फिर पिताजी और बाद में उन्होंने चलाया। इस तरह वह अपने दादा जी की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। टिकम सन् 1977 से इस कैमरे को चलाते हुए आ रहे हैं, कैमरे को मिंट कैमरा (Mint Camera) या बॉक्स कैमरा (Box Camera) कहा जाता है।

Mint Camera

वर्तमान में अगर फोटोशुट करवाना हो तो उसके लिए बड़े-बड़े स्टूडियो में लाइटिंग और अन्य उपकरण के जरिए वहां के माहौल का जगमग किया जाता है, लेकिन टीकम रोड पर काले कपड़े का बैकग्राउंड बनाकर फोटोग्राफी की जाती है। 20 किलो वजन के कैमरे की बॉडी लकड़ी से बनी हुई होती है. इसी के साथ कैमरे का स्टैंड भी लकड़ी का बना हुआ होता है। कैमरा इतना पुराना है कि इसके आज के वक्त में पार्ट्स भी नहीं मिलेंगे। फोटो प्रिंट करने वाला पेपर और केमिलक भी फ्रांस या जर्मनी से मंगवाना पड़ता है। यही कारण है कि इसकी फोटोग्राफी भी काफी मंहगी होती है।

Jaipur Old Camera Wala

टीकम इसकी खासियत बताते हुए कहते हैं कि इस कैमरे के अंदर ही डार्करूप यानी के एक लैब है, जिसमें ब्लैक एंड वाइट फोटोग्राफ तैयार किए जाते हैं, उन्होंने बताया कि कुछ शौकिया लोग ही उनसे फोटो खिंचवाते हैं बाकि तो उनके कैमरे के साथ फोटो खिंचवाते हैं और आगे बढ़ जाते हैं, वह कहते हैं कि लोग उनसे फोटो न खिंचवाएं, फर्क नहीं पड़ता। लेकिन जयपुर आने वाले पर्यटकों के कैमरे और फोनों में उनकी और उनके कैमरे की तस्वीर है, यह उनके लिए गर्व की बात है। टीकम के कैमरे से फोटो खिंचवाने वाले लोगों में देशी-विदेशी दोनों तरह के पर्यटक शामिल रहते हैं। हालांकि विदेशी पर्यटक इस कैमरे को ज्यादा तवज्जो देते हैं। वही, यह कैमरा इतना खास है कि इसे फिल्म भूल-भुलैया के साथ-साथ कई फिल्मों में दिखाया जा चुका है।

यह भी पढ़ें- जयपुर से बिहार तक अपनी डॉक्टरी का लोहा मनवाने वाला ऐसा डॉक्टर जो बना गरीबों का मसीहा

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि