Connect with us

जयपुर

एक विधायक ने रोटी बिलखती 2 बेटियों के माँ का करवाया अंतिम संस्कार, पेश की मानवता की मिशाल

Published

on

देश में एक और जहां कोरोनावायरस फैलता ही जा रहा है। लोग बीमार पड़ते ही जा रहे हैं। वहीं कुछ लोग इस कोरोनावायरस में ऐसे भी हैं जो लोगों की मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं। कुछ लोग बिना जात पात बिना धर्म के भेद करते हुए लोगों की मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं। ऐसा ही मामला सामने आया राजस्थान की राजधानी जयपुर से जहां के मुस्लिम विधायक ने हिंदू धर्म के हिसाब से एक मृ’तक महिला को मुक्ति दिलवाई।

दरअसल पूरा मामला आपको बताएं तो जयपुर से विधायक अमीन कागजी ने जब अस्पताल के बाहर दो रोती हुई बच्चियों को देखा तो, उनसे रोने का कारण पूछा, बच्चियों ने बताया कि वे आगरा से हैं और उनकी मां यहां जयपुर में भर्ती थी। उनकी मां की मृ’त्यु हो चुकी है और मां को शम’शान तक ले जाने के लिए ना कोई वाहन की व्यवस्था हो पा रही है, और ना ही यह समझ पा रही हैं कि उनकी मां को चि’ता कौन देगा।

इस पर अमीन कागजी ने बच्चों को भरोसा जताया और मां को ले जाने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था भी करवाई साथ ही मृ’तक के पति और दोनों बच्चियों को लेकर शमशान तक पहुंचे। जहां उन्होंने खुद अंतिम यात्रा से जुड़ी सभी रस्म भी पूरी की साथ ही मृ’तक महिला की चिता को आग भी दी। साथ ही परिवार को हर संभव मदद का भी आश्वासन दिया। विधायक अमीन कागजी अपने बड़े भाई की कोरोना की जांच कराने के लिए अस्पताल पहुंचे थे।

बाकी आपको बताएं कि वह खुद भी दो बार कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। साथ ही दोनों बार उन्होंने कोरोना को मात दे दी है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहा है जिसने अमीन कागजी ने इंसान की इंसान को मदद का एक बेहतर उदाहरण साबित किया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >