Connect with us

जयपुर

पंचर लगाने वाले का बेटा बना करोड़पति,150 रू की ढाबे की नौकरी से की शुरुआत राहुल तनेजा का सफर

Published

on

आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति की कहानी बताएंगे जिसने अपना जीवन 150 रुपए से लेकर कई करोड रुपए बनाने का सफर तय किया है। हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश के काटीला में जन्मे राहुल तनेजा की। राहुल तनेजा की बात करें तो उनका जीवन बेहद गरीबी और आर्थिक तंगी में गुजरा था। राहुल के पिता गाड़ी में पंचर लगाने का काम करते थे। बाद में राहुल के पिता ने टेंपो चलाना शुरु कर दिया था।

राहुल तनेजा की बात करें तो उन्होंने 11 साल की उम्र में अपने घर को छोड़कर भागने का फैसला लिया। राहुल मध्य प्रदेश से राजस्थान की राजधानी जयपुर में भाग कर चले आए थे। इसके बाद राहुल ने यहां एक ढाबे में नौकरी करना शुरू कर दिया था। आपको बताए तो राहुल पढ़ाई में भी रूचि रखते थे। इसके लिए उन्होंने आदर्श विद्यालय मंदिर में पढ़ाई भी करना शुरू कर दिया था। पढ़ाई में उनकी रुचि ऐसी थी कि उन्होंने 92% अंक हासिल किए थे। बात करें राहुल के जीवन की राहुल ने अपना जीवन यापन करने के लिए ढाबे में 150 रुपये की नौकरी करना शुरू कर दिया था।

दिन में काम शाम को ऑटो

राहुल अपना जीवन चलाने के लिए सुबह आदर्श नगर के एक ढाबे में नौकरी किया करते थे। इसके अलावा और राहुल रात को 9:00 से 12:00 बजे तक ऑटो भी चलाया करते थे। आमदनी अच्छी रहे और उनके खर्चा चल पाए इसके लिए राहुल डबल मेहनत किया करते थे। राहुल बताते हैं कि ऑटो चलाने के लिए उनके पास लाइसेंस नहीं था। इसलिए उन्होंने ऑटो चलाना बंद कर दिया था। राहुल बताते हैं कि इसके बाद उन्होंने मकर संक्रांति पर पतंग, रक्षाबंधन पर राखी, होली पर रंग, दिवाली पर पटाखे व अन्य त्योहारों पर काम आने वाले सामानों को बेचना शुरू कर दिया था।

दोस्तो ने दी मॉडलिंग की सलाह

राहुल तनेजा बताते हैं कि उनके कॉलोनी में रहने वाले उनके दोस्तों ने उन्हें मॉडलिंग करने की सलाह दी थी। उनके दोस्तों का कहना था कि राहुल की कद काठी और सुंदरता अच्छी है इसके लिए वह मॉडलिंग कर सकते हैं। इसके बाद राहुल ने मॉडलिंग करने का भी फैसला कर लिया था। राहुल अपने दोस्तों से प्रभावित होकर मॉडलिंग में जाने का निर्णय कर चुके थे।

इसके बाद राहुल का जीवन ऐसा बदला कि आज राहुल हम सभी के सामने एक बेहतरीन उदाहरण है। राहुल ने मॉडलिंग के करियर में मिस्टर जयपुर,मिस्टर राजस्थान और मेल ऑफ द ईयर का खिताब जीता है। इन सभी कामयाबी के बाद राहुल ने कई बेहतरीन बड़े बड़े कार्यक्रमों में हिस्सा लिया था। इसके बाद राहुल ने इवेंट करना शुरू कर दिया था और अब खुद एक वेडिंग इवेंट प्लानर है।

राहुल आज लाइव क्रिएशन कंपनी के नाम से अपनी वेडिंग इवेंट की कंपनी चलाते हैं। वे राजस्थान के फार्म में रहते हैं राहुल की बात करें तो उन्हें कई बड़ी गाड़ियों का शौक है। राहुल 40 साल की है लेकिन उन्होंने अपने पूरे जीवन में एक बेहतरीन उदाहरण लोगों के सामने पेश किया। पंचर लगाने वाले का बेटा आज करोड़ों रुपए का मालिक है। उनकी मेहनत और उनकी संघर्ष भरी जिंदगी हम लोगों के सामने उदाहरण है।

1 नंबर से है लगाव

राहुल तनेजा की बात करें तो उनका लकी नंबर 1 है। वह 1 नंबर को अपना लकी नंबर मानते हैं। राहुल की बात करें तो उनके सभी चीजों के नंबर में एक जरूर आता है। राहुल के मोबाइल, लैंडलाइन के लास्ट कुछ नंबर 1 ही है। साथ ही राहुल की सभी गाड़ियों के नंबर भी एक से जुड़े हुए हैं। राहुल ने इस खास नंबर को लेने के लिए अपनी गाड़ियों पर 40 लाख रुपए खर्च किए थे।

आपको उनसे जुड़ा एक खास किस्सा बताएं तो साल 2011 में राहुल तनेजा ने बीएमडब्लू की 5 सीरीज कार खरीदी थी इसके नंबर प्लेट के लिए उन्होंने उस वक्त 11 लाख रुपए खर्च किए थे। भारत में उस समय 11 लाख रुपए नंबर प्लेट पर खर्च करने वाले राहुल तनेजा लोगों के बीच चर्चा का विषय बने हुए थे।

राहुल ने अपनी पत्नी को स्कोडा कंपनी की एक कार उपहार में दी थी, उनकी पत्नी की गाड़ी का नंबर भी 0001 है। वहीं राहुल ने साल 2018 में जैगुआर कंपनी की 1.50करोड़ रुपए की गाड़ी खरीदी थी और उन्होंने इस गाड़ी का नंबर भी 0001 ही लिया था।

राहुल तनेजा आज हर युवा के लिए प्रेरणा है। उन्होंने साबित किया है कि अगर जीवन में मेहनत की जाए तो किसी भी मुकाम को हासिल किया जा सकता है। राहुल तनेजा युवाओं के लिए और सभी लोगों के लिए एक बेहतरीन उदाहरण है। मात्र 150 रुपयों की नौकरी करके राहुल आज करोड़ों रुपए के मालिक हैं। उन्होंने अपने जीवन में मेहनत के साथ संघर्ष किया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >