जयपुर की तृप्ति जैन ने RJS परीक्षा में पाई 4th रैंक- कहा उम्मीदवार रखें इन 3 बातों का ख्याल

RJS Topper Jaipur Tripti Jain: राजस्थान ज्यूडिशियल सर्विस (RJS) एग्जाम में इस बार बेटियों ने बाजी मारी है, परीक्षा में  बीकानेर (Bikaner) जिले के श्रीडूंगरगढ़ (Shri Dungargarh) क्षेत्र की बेटी अंजलि जानू (Anjali Janu) ने टॉप किया है। खास बात यह है कि टॉप-10 में 8 लड़कियां शामिल रही हैं।आइए, इसी फेहरिस्त में शुमार जयपुर की तृप्ति जैन (Tripti Jain) के संघर्ष की कहानी जानते हैं, जिन्होंने इस परीक्षा में चौथी रैंक हासिल की है।

तृप्ति जैन का चयन मध्यप्रदेश के ज्यूडिशयल सर्विस में सिविल जज की परीक्षा में भी हुआ था, उन्होंने इस परीक्षा में 35वीं रैंक हासिल की थी। इसके बाद 30 अगस्त को वह भोपाल में ज्वाइन करने गईं।लेकिन उसी दिन RJS का रिजल्ट घोषित हुआ, उस दौरान तृप्ति भोजा में MPCJ का बॉन्ड भरने गई थीं। 3 साल तक जज की नौकरी नहीं छोड़ने के लिए उन्हें 5 लाख रुपए का बॉन्ड भरना था। लेकिन जैसी ही उन्हें सूचना मिली कि उनका चयन राजस्थान ज्यूडिशियल सर्विस (RJS Exam-2021) के लिए हो गया है, उन्होंने वह बॉन्ड नहीं भरा और पिता के साथ वापस जयपुर लौट आईं। तृप्ति ने परीक्षा में 200 नंबर हासिल कर चौथी रैंक पाई है। जनरल कैटेगरी में तृप्ति का नाम लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। बीती 30 तारीख को जारी हुए राजस्थान ज्यूडिशियल सर्विस (RJS)- सिविल जज कैडर-2021 में कुल 120 उम्मीदवारों को चयन हुआ है, जिनमें 71 लड़कियां शामिल हैं।

RJS Topper Jaipur Tripti Jain

तृप्ति जैन के पिता शरत सेठी, छोटा भाई अपूर्व सेठी और दादजी शिखर चंद सेठी (90 वर्ष) ए़डवोकेट हैं, पिता शरत सेठी मूल रूप से सवाई माधोपुर के गंगापुर सिटी के निवासी हैं। पिछले करीब 25 साल से वह जयपुर के ही प्रताप नगर सेक्टर-5 में रह रहे हैं। तृप्ति के पिता की 32 साल की सेशल कोर्ट और हाईकोर्ट प्रैक्टिस और दादाजी के अनुभव का फायदा तृप्ति को भरपूर मिला। कई बार प्रैक्टिकल नॉलेज के लिए पिता के साथ वह कोर्ट भी गई थीं।

उन्होंने जयपुर के सेंट ऑगस्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल से शिक्षा पूरी की, वह एक हिंदी माध्यम की छात्रा रही हैं, हालांकि उन्होंने BA-LLB और LLM इंग्लिश मीडियम से की है। राजस्थान यूनिवर्सिटी के 5 साल लॉ कॉलेज से 2017 में BA-LLB इंटीग्रेटेड कोर्स किया, इसके बाद LLM भी इसी कॉलेज के किया। साल 2019 में RJS सिविल जज परीक्षा में पहले प्रयास में वह इंटरव्यू तक पहुंची मगर 2 नंबर से रह गईं, साल 2020 में लॉकडाउन के दौरान ज्यूशियल सर्विस की तैयारी में वह जुटीं। साल 2021 के मार्च में उन्होंने मध्यप्रदेश के सिविल जज की प्री-परीक्षा दी। तृप्ति बताती हैं कि उन्होंने किसी कोचिंग का सहारा नहीं लिया, बल्कि खुद से तैयारी की। साल 2017-18 के दरमियां कोर्ट के व्यावहारिक ज्ञान के लिए उन्होंने राजस्थान हाईकोर्ट में एडवोकेट दिनेश कुमार दीक्षित के अंडर में प्रैक्टिस भी की। इस दौरान चीटिंग मैटर0 420 और 376 रे’प केस में कोर्ट में पैरवी कर उन्होंने याचिकाकर्ताओं को जमानत भी दिलवाई।

RJS Topper Jaipur Tripti Jain:

उनके अनुसार विद्यार्थियों को प्रीलिम्स की परीक्षा से पहले ही कोर्स को पूरा कर लेना चाहिए, वहीं मेन्स की परीक्षा की तैयारी प्वाइंट टू प्वाइंट करनी चाहिए, नोट्स बनाने चाहिए और उन्हीं से पढ़ाई करनी चाहिए। वह कहती हैं इस बीच 3 बिंदुओं का उम्मीदवार को ध्यान रखना चाहिए- पहला हैंड राइटिंग, दूसरा टाइम मैनेजमेंट और तीसरा कंटेट। तृप्ति की इस कामयाबी से उनके दोस्त, माता-पिता तथा रिश्तेदार बेहद खुश हैं, उन्हें बधाई देने वालों की संख्या टूटने का नाम नहीं ले रही।

तृप्ति (RJS Topper Jaipur Tripti Jain) की मां ममता सेठी ने बी- कॉम किया हुआ है, वह हाउस मेकर हैं, जबकि उनकी बड़ी बहन आकांक्षा जैन ने बी-कॉम किया हुआ है, तृप्ति बताती हैं कि उनकी माता उनका पूरा ख्याल रखा करती थीं, वहीं पिता शरत सेठी का कहना है कि उन्हें तृप्ति पर गर्व है, आज उनकी बेटी ने उनके परिवार का नाम रोशन कर दिया है।

यह भी पढ़ें- पति, सास-ससुर सबको खोया- अनुंकपा में दी नौकरी को ठुकराकर खुद के बल पर पाई इतनी बड़ी सफलता!

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि