सुनील धनवंता तथा निशा धवल- अधिकारी के पद पर रह दंपति कर रहा देश की सेवा!

Sunil Dhanwanta and Nisha Dhawal: सुनील धनवंता तथा निशा धवल, विराटनगर, जयपुर राजस्थान।
************************************

धीरज धरा और लगन बड़ी,
ना इसका कोई तोड़।
मेहनत इसके साथ हो तो,
हर दिन नया जोड़।

जोश जज्बे और लग्न की कहानी।
****************************
दोस्तों नमस्कार!
दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसे युवा, लक्ष्य के प्रति अडिग रहने वाले, लगनशील शख्सियत से रूबरू करवा रहा हूं, जिसने अपनी मंजिल तक पहुंचने में किसी प्रकार की हार नहीं मानी, और मंजिल पर पहुंच कर ही दम लिया।

परिवार और परिचय।
******************
मेला ग्राउंड सेक्टर निवासी निशा धवल (Nisha Dhaval) भारतीय विदेश सेवा में हिसार में अपनी सेवाएं दे रही हैं। उनके आईपीएस पति सुनील धनवंता (Sunil Dhanvanta and Nisha Dhaval) ने यूपीएससी में अपने लक्ष्य परअडिग रहते हुए 22वी रैंक हासिल कर IAS बनने का अपना सपना साकार किया है। सुनील धनवंता विराटनगर जयपुर (Virat Nagar Jaipur) के रहने वाले हैं व आईपीएस प्रशिक्षु हैं।
निशा धवल ने बताया कि सुनील का सपना आईएएस बनना था। जो कि चार साल बाद में हासिल हुआ है। सुनील ने आईआईटी दिल्ली (Delhi IIT) से ग्रेजुएशन किया है और जवाहरलाल यूनिवर्सिटी (JNU) से मास्टर डिग्री हासिल की है।

निशा की शादी।
*************

Sunil Dhanwanta and Nisha Dhawal
निशा धवल की सुनील धनवंता के साथ में फरवरी 2022 में शादी हुई थी। शादी के तीन महीने बाद में सुनील ने यूपीएससी (UPSC) एग्जाम में 22 वीं रैंक हासिल कर अपना आईएएस बनने का सपना साकार किया। निशा सुनील के लिए बहुत ही लक्की साबित हुई है।
निशा धवल ने 2016 में यूपीएससी क्लियर कर लिया था, तथा वर्तमान में भारतीय विदेश सेवा में कार्यरत है। निशा के पिता प्रभु दयालजी सेवानिवृत्त लेबर ऑफिसर रहे हैं उन्होंने अपनी सेवाएं गुरुग्राम में दी हैं, तथा माता संतोष देवी ग्रहणी है। निशा ने बताया कि सुनील शुरू से ही पढ़ाई में बहुत होशियार थे और उन्होंने अपनी तैयारी दिल्ली में रहकर की है।

सुनील धनवंता।
**************
जयपुर जिले के विराटनगर उपखंड की जयसिंहपुरा ग्राम पंचायत के सूरजपुर गांव के रहने वाले सुनील धनवंता ने यूपीएससी 2021 (UPSC 2021) के परिणामों में 22 वी रैंक हासिल कर अपने माता पिता और गांव का नाम रोशन किया है।
सुनील धनवंता ने 2018 में ही यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा पास कर ली थी, लेकिन उनकी रैंक 697 थी,जिससे उन्हें रेलवे लेखाधिकारी की सेवा करने का मौका मिला। 2019 में उनकी देशभर में 662 वी रैंक रही। जिससे आईपीएस कैडर मिला।
इसी प्रकार 2020 में उनकी देशभर में 682 वी रैंक रही। जिससे वह 2019 के कैडर को लेकर सरदार पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकैडमी हैदराबाद में आईपीएस की ट्रेनिंग ले रहे हैं। अब 2022 के घोषित परिणामों में सुनील धनवंता को देश भर में 22 वी रैंक हासिल हुई है,जिससे विराटनगर के पूरे इलाके में खुशी की लहर दौड़ गई है। Sunil Dhanwanta and Nisha Dhawal

सफलता का श्रेय और संदेश।
*******””*************
सुनील धनवंता ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता,गुरुजनों और अपनी पत्नी को दिया है। उन्होंने बताया कि मेरा सपना आई ए एस बनना था,जो मैंने हासिल कर लिया और अब मेरा सपना देश सेवा का है। उन्होंने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि युवा किसी भटकाव की तरफ ना जाए। लगातार अपनी मेहनत करें। एक दिन सफलता जरुर मिलेगी। उन्होंने सभी को हार्ड वर्क करते रहने का संदेश दिया है।

अपने विचार।
************
धीरज बड़ा लक्ष्य बड़ा,
कसौटी पर है मेहनत।
ध्यान लगन है साथ में,
तो मत करो कोई जतन।

विद्याधर तेतरवाल,
मोतीसर।

यह भी पढ़ें- IAS Pratiksha Singh: पिता का सिर से उठा साया, मगर नहीं खोया आत्मविश्वास और बन गईं IAS अफसर

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि