धर्मवीर खीचड़ जिन्होंने जैविक खेती से लिखी आत्मनिर्भरता की कहानी, आज लाखों में होती है कमााई

किसानों की दुर्दशा अक्सर इस बात पर सवाल खड़े करती है कि सरकार किसानों के खातिर आखिर कर क्या रही है, खेती में नुकसान तो मुआवजे में आनाकानी, पर्याप्त संसाधन प्राप्त कराने में गैर-जिम्मेदारी बरतना, आदि-  बताता है कि देश के किसानों के लिए सरकारें उतनी अधिक संजीदगी नहीं बरत रही जिसकी दरकार है। ऐसे में कुछ किसान ऐसे भी हैं जो खुद आत्मनिर्भर होकर खेती में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं तथा अच्छी कमाई कर रही हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम प्रदेश तथा देश के किसानों के सामने उन लोगों की कहानी लाना चाहते हैं जो खेती के माध्यम से बगैर किसी थर्ड पार्टी या सरकार पर निर्भर होकर अच्छा अच्छा कमा रहे हैं। इसके साथ ही नवविचारों से कैसे खेती में नए आयाम रच रहे हैं। इसी क्रम में नवलगढ़ के देसासर खुर्द के निवासी धर्मवीर खीचड़ (Farmer Dharamveer Khichar earns good by agriculture) वह किसान हैं, जिन्होंने साल 2008 में जैविक खेती की मदद से गेहूं चना उगाना शुरू किया तथा इस कदम के माध्यम से उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया।

खेती करने का अनूठा तरीका

धर्मवीर खीचड़ के पास 55 गाय भैंस हैं और वह सभी गाय भैंसों की गोबर से खाद तैयार करते हैं। वह गोबर को गला करके शुद्ध खाद तैयार करते हैं और बायोगैस प्लांट की मदद से उन्हें खेती करने इस्तेमाल करते हैं। वह कहते हैं कि गाय और भैंसों के गोमूत्र को शुद्ध करके फाउंटेन के जरिए खाद देने का भी काम करते हैं।

धर्मवीर यूरिया डेप भी बनाते हैं और देशी तरीके से इसको तैयार करते हैं। इसके अलावा उन्होंने वेस्ट सब्जी व अन्य चीजों को प्रयोग करके भी खेती में मदद लेने का काम किया हैं।

लोगो ने उड़ाया था मजाक

धर्मवीर खीचड़ (Farmer Dharamveer Khichar earns good by agriculture) बताते हैं कि शुरुआती दिनों में उनके काम को देखकर लोगों ने उनका मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। लोग बोलते थे कि रात को धर्मवीर बाजार में मौजूद डेप का इस्तेमाल करते हैं लेकिन वह लोगों को बताते हैं कि वह देसी खाद बना रहे हैं और उसी का प्रयोग करते है। धर्मवीर ने मजाक उड़ाने वालों को गलत साबित किया।

आज लाखों में होती है कमाई

धर्मवीर खीचड़ आज लाखों में कमाई करते हैं। वह बताते हैं कि हर महीने 1 लाख रुपये से ज्यादा का दूध बेचते हैं जिसके बाद दूध के माध्यम से आने वाली कमाई का 60% वह गाय भैंसों की खाने व अन्य चीजों पर खर्च करते हैं। इसी के साथ वह हर महीने 80 से 85 हजार रूपये की सब्जियां बेच देते हैं,

आज खुद के पास हैं 2 मकान

धर्मवीर खीचड़ ने साल 2002 में अपना मकान बनावाया जिसके लिए उन्हें कर्जा भी लेना पड़ा था। लेकिन इसके बाद धर्मवीर की किस्मत पलट गई उन्होंने कुछ पैसे जोड़ करके एक देसी गाय पालना शुरू कर दिया जिसकी मदद से धर्मवीर आज लखपति बन चुके हैं। धर्मवीर खीचड़ (Farmer Dharamveer Khichar earns good by agriculture)  के पास आज दो मकान है, साथ ही चार पांच बीघा जमीन पर वह खेती करते हैं।

कभी फायदे व कभी घाटे का सौदा है खेती

धर्मवीर बताते हैं कि खेती के माध्यम से कई बार उन्हें फायदा होता है वहीं कई बार इसके चलते नुकसान भी उठाना पड़ता है लेकिन उनका मानना है कि कभी भी हार नहीं माननी चाहिए। वह कहते हैं कि हार न मान कर के जो व्यक्ति लगातार किसानी में दिल से काम करता रहे उसे जरूर मुनाफा होता है। (Farmer Dharamveer Khichar earns good by agriculture)

और पढ़ें- अन्नदाता धर्मवीर खीचड़ की देशी कहानी जानें!! कैसे जैविक खेती से कमाते लाखों रूपए

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि