झुंझुनूं की बेटियों को सलाम~ अफ्रीका में लहराया जीता का परचम, बनीं लाखों की मिसाल

Jhunjhunu: देश की बेटियों  ने अपने हुनर और हौसलों से देश का नाम विश्व जगत में खूब मशहूर किया है और यह सफर लगातार जारी है। हाल ही में राजस्थान (Rajasthan) की दो बेटियों ने भी विश्व जगत में अपने हुनर का दमखम दिखाया है। मंडावा (Mandawa) उपखंड के बहादुरवास गांव की सूरमा बहू अनिता जानू (Anita Janu) ने कीर्तिमान स्थापित किया है। यही नहीं अनिता की बेटी नूपुर (Nupur Janu) भी इस सफलता (Jhunjhunu Daughter Wins Bronze in Africa) का हिस्सा रही हैं।

Rajasthan News

48 वर्षीय अनिता ने अपनी 25 वर्षीय बेटी नुपूर जानू के साथ मिलकर दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के डरबन (Durban) में 90 किलोमीटर की दौड़ लगातकर यह सफलता हासिल की है। डरबन के ‘द कॉमरेड्स अल्ट्रामैराथन-2022’ में अनिता और नूपुर ने 90 किलोमीटर की दौड़ लगाकर कांस्य पदक जीता है। यह दौड़ उन्होंने 10 घंटे 52 मिनट और 31 सेकेंड में कम्प्लीट की है।

दिनांक 28 अगस्त को आयोजित ‘द अल्टीमेट ह्यूमन रेस-100वीं कॉमरेड्स अल्ट्रामैराथन’ में देश के करीब 211 धावकों ने भाग लिया था, इनमें देश की 6 महिलाएं भी शामिल थीं, जिनमें 2 महिलाएं झुंझुनूं जिले की थीं। बेटियों ने आज न केवल राज्य का बल्कि देश का नाम बुंलदियों पर पहुंचा दिया है।

daughter mother

अनिता जानू के परिवार के सदस्य प्रमोद जानू बताते हैं कि अनिता ने इससे पहले जयपुर में मार्च, 2022 में आयोजित जयपुर मैराथन में 4 घंटे 16 मिनट में 42 किलोमीटर की दौड़ पूरी की थी। वह इस प्रतियोगिता में दूसरे नंबर पर रही थीं। उस समय उन्हें श्रेष्ठ महिला धावक की ख्याति मिली थी। अनिता का पीहर आबूसर गांव में है, वह एक गृहिणी हैं, जबकि नूपुर गुरुग्राम में मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करती हैं। वहीं अनिता के ससुर गणेश जानू ने बताया कि उन्हें अपनी बहू तथा पोती पर गर्व है।

anita janu

अनिता जब 44 साल की थीं, तब उन्होंने दौड़ लगाना शुरू किया। इससे उनका वजन कम हुआ तो उनकी दौड़ में और दिलचस्पी बढ़ने लगी, जिसके बाद उन्होंने लगातार दौड़ लगाना शुरू कर दिया, उनसे प्रेरक हो बेटी नूपुर ने भी दौड़ना शुरू किया। दिसंबर, 2021 में जैसलमेर (Jaisalmer) में आयोजित 100 किलोमीटर की अल्ट्रामैराथन दौड़ में उन्होंने अपने पिता अनिल जानू के साथ 15 घंटे में पूरी की थी।अनिल जानू भारतीय वायु सेना में ग्रुप कैप्टन हैं।

डरबन में आयोजित इस दौड़ में ‘अप रन’ (89 किलोमीटर) और पीटरमैरिट्सबर्ग से शुरू होने वाले ‘डाउन रन’ (90 किलोमीटर) के बीच ऑप्शनल रेस होती है, जिसमें 2022 डाउन की रेस पूरी कर, झुंझुनूं की बेटियों ने सफलता (Jhunjhunu Daughter Wins Bronze in Africa) हासिल की है तथा देश के लिए कांस्य पदक जीता है।

यह भी पढ़ें- झुंझुनूं- सेठ मोतीलाल कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष की सरियों से पीटकर कर डाली बेरहमी से ह’त्या

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि