Connect with us

झुंझुनू

झुंझुनू के एनएसजी क’मांडो संदीप सिंह शेखावत ने खुद के खेत को बना डाला फ़ौ’ज का ट्रेनिंग सेंटर

Published

on

मन में जुनून और हर भारत की सेवा करनी हो तो हर मुश्किल भी छोटी नजर आती है। देश की से’ना में सबसे ज्यादा जवान किसी जिले से शामिल हुए हैं, तो राजस्थान का झुंझुनू जिला है। यही के एनएसजी क’मांडो संदीप सिंह शेखावत ने एक नेक काम शुरू किया हैं। एनएसजी क’मांडो संदीप सिंह शेखावत इस समय दिल्ली में कार्यरत है। वह झुंझुनू जिले के अलसीसर गांव के रहने वाले हैं।

क’मांडो संदीप सिंह ने गांव के अंदर एक ऐसे ट्रेनिंग सेंटर तैयार किया जिसके माध्यम से गांव के युवाओं को फौ’ज में जाने की तैयारी कराई जाती है। आपको बताएं संदीप ने अपने ही खेत में खुद का खर्चा करके सभी उपकरण खरीदे और गांव के बच्चों को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया। वह इस कार्य की शुरुआत के पीछे बताते हैं कि वह नहीं चाहते कि उनके गांव का कोई भी युवा जो फौज में जाना चाहता है, उसको किसी भी तरह की परेशानियों का सामना करना पड़े।

वह यह परीक्षण फ्री’ में करवाते हैं और सुबह 4:00 बजे से ही बच्चों को ट्रेनिंग देना शुरू कर देते हैं। 50 के आसपास बच्चे उनसे ट्रेनिंग लेने आते हैं। संदीप सिंह बताते हैं पहले तो उनके गांव के ही लोग आया करते थे, लेकिन अब आसपास के युवा भी उनसे प्रेरित होकर देश की सेवा करने की जुनून से उनके ट्रेनिंग कैंप में आते हैं। संदीप यह सारी सेवाएं सभी को मु’फ्त में देते हैं। वह बच्चों को हर एक बारीकियां बताते हैं जो फौ’ज में जाने के लिए जरूरी है।

भागदौड़ से लेकर कूद फांद तथा अन्य सभी बातों का ध्यान अपनी ट्रेनिंग में रखते हैं। साथ ही बताएं संदीप इस समय दिल्ली में कार्यरत है जब वह दिल्ली अपनी ड्यूटी पर आते हैं, तो उनके स्टूडेंट संदीप की बताई गई बारीकियों को खुद ही खेत में प्रैक्टिस करके पूरा करते हैं। सभी युवाओं के अंदर इतना जोश है,कि वह देश की सेवा करना चाहते हैं। संदीप यह काम अपने गांव के युवाओं को सेना में भर्ती करवाने के लिए कर रहे हैं, उनका यह नेक काम युवाओं को आकर्षित करता है।

संदीप खुद भी भारतीय से’ना के जवान है और गांव के युवाओं को भी इसके लिए तैयार कर रहे हैं। हम संदीप के इस जज्बे को सलाम करते हैं। साथ ही उनके गांव के आसपास के युवाओं को जो भारतीय से’ना में जाना चाहते हैं,उन्हें यह सुझाव भी देते हैं कि वह भी संदीप सिंह शेखावत के परीक्षण केंद्र में जाकर भारतीय सेना में जाने की ट्रेनिंग ले सकते हैं। संदीप यह सब कार्य फ्री’ में करते हैं, उनकी ट्रेनिंग 3 महीने की होती है।

एनएसजी क’मांडो संदीप सिंह शेखावत की इस बेहतर सोच और लगन के लिए आपकी क्या राय है, कमेंट बॉक्स में जरूर बताये ?

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >