Connect with us

झुंझुनू

शेखावाटी के लाल, स्वतंत्रता सेनानी और कांग्रेस के पक्के सिपाही रामनारायण चौधरी की जीवनी

Published

on

आज हम आपको शेखावाटी के लाल, स्वतंत्रता सेनानी, गांधीवादी विचारधारा के प्रतीक, पूर्व पीसीसी अध्यक्ष रामनारायण चौधरी के जीवन के बारे मे बताएंगे। रामनारायण चौधरी का जन्म 22 फरवरी 1928 को झुंझुनू जिले के हेतमसर गांव में हुआ था।वे इंटरमीडिएट तक शिक्षित थे। उनके पिताजी का नाम चौधरी माला राम तथा माता का नाम सरस्वती था।

रामनारायण जी का विवाह कुलौद के चौधरी गीदाराम की सुपुत्री परमेश्वरी देवी के साथ हुआ। रामनारायण जी के भरे पूरे परिवार में आज दो पुत्र और दो पुत्रियां हैं जिनमें मंडावा विधायक रीटा चौधरी भी है। रामनारायण चौधरी 1967 में पहली बार मंडावा से कांग्रेस के टिकट पर विधायक चुने गए। चौधरी सात बार विधायक रहे। नवंबर 1971 से मार्च 72 तक विधानसभा के उपाध्यक्ष रहे।

नवंबर 1973 को वे हरिदेव जोशी के मंत्रिमंडल में सहकारिता, स्वायत शासन, नगर आयोजन, पंचायती राज, जेल और मुद्रण आदि विभागों में मंत्री रहे। 1977 के चुनाव में वे फिर कांग्रेस के टिकट पर ऐसे समय चुने गए जब जनता पार्टी की लहर थी। जनता पार्टी सरकार में कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष रहे। हालांकि 1980 में कांग्रेश लहर के समय चुनाव हार गए और कुछ समय बाद PCC अध्यक्ष बनाए गए। 1982 में उन्हें राजस्थान आवासन मंडल का अध्यक्ष मनोनीत किया गया।

1983 में मंडावा क्षेत्र से उपचुनाव में फिर विधायक चुन लिए गए। 1985 और 90 के चुनावो में उनका टिकट कट गया लेकिन 1993 में वे फिर विधायक चुने गए। 2003 के चुनाव में वे फिर जीते तो उन्हें विधानसभा उपाध्यक्ष बनाया गया और एक बार फिर नेता प्रतिपक्ष नियुक्त किया गया। पिछले चुनाव में उन्होंने अपनी बेटी रीटा चौधरी को टिकिट दिलवाया और विधानसभा भेजने में मदद की। रामनारायण चौधरी 1952 से राष्ट्रीय कांग्रेस की पक्के सिपाही के तौर पर सेवा कर रहे हैं।

निधन: रामनारायण चौधरी का लंबी बीमारी के बाद 84 साल की उम्र में फोर्टिस हॉस्पिटल जयपुर में 18 अक्टूबर 2012 को नि’धन हो गया। वे अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़कर गए हैं उनकी पुत्री रीटा चौधरी वर्तमान में मंडावा विधानसभा क्षेत्र से विधायक है।

लेखक की कलम: 

गांधीवादी विचारधारा, स्वतंत्रता के वो सैनिक थे। सेवा कार्य चुन ही लिया तो, करते काम वो दैनिक थे।

विद्याधर तेतर वाल, मोती सर।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >