सैल्यूट! रिटायर्ड कैप्टन गिरधारी दिखा रहे बॉक्सिंग में दमखम, 350 युवाओं को बनाया नया बॉक्सर

राजस्थान: भारतीय सेना से रिटायर्ड करौली जिले के गिरधारी (Karauli Retire Girdhari Boxer) बॉक्सिंग के क्षेत्र में नौजवानों को एक नई राह दे रहे हैं। बॉक्सिंग कोच के रूप में गिरधारी पूरे जिले में मशहूर है। यही कारण है कि रिटायरमेंट के बाद भी वह रुके नहीं और अपने कौशल से नौजवानों को निखारने में लगे हैं। पूर्व सैनिक का यह हौसला देख, कोई भी उन्हें सैल्यूट किए बगैर नहीं रह पाता। दुब्बी गांव (Dubbi Villege) के रहने वाले कैप्टन गिरधारी सिंह (Captain Girdhari Singh) भारतीय सेना में रिटायर्ड होकर बॉक्सिंग में खिलाडी और कोच के रूप में कई गोल्ड और सिल्वर मेडल प्राप्त कर चुके हैं और अपने कौशल और गुरों से नौजवानों को तैयार कर रहे हैं। कैप्टन अभी तक 350 युवाओं को बॉक्सिंग सिखा चुके हैं, इनमें 50 खिलाड़ियों को वे आगे तक ले जाने की ट्रेनिंग दे रहे हैं।

दुब्बी गांव में जन्में कैप्टन गिरधारी दिनांक 3 दिसंबर, 1985 को सेना में भर्ती हुए थे, खेलों में उन्हें शुरू से ही रुचि थी। उन्होंने सन् 1988 में बॉक्सर के रूप में खेलना शुरू किया। उस दरमियां सेना स्तर के मुकाबलों में उन्होंने 4 गोल्ड और 1 सिल्वर तथा सर्विसेज टूर्नामेंटों में 2 गोल्ड और 2 सिल्वर मेडल जीते। कैप्टन ने 3 बार नेशनल लेवल पर भी हिस्सा लिया, जिनमें एक बार उन्होंने कांस्य पदक अपने नाम किया। वह खिलाड़ी के रूप में 50 से भी ज्यादा प्रतियोगिताओं में भारत की अगुआई कर चुके हैं। खेल कौशल में विशिष्ट सेवाओं के चलते उन्हें 26 जनवरी, 2018 को विशिष्ट सेवाओं में पदोन्नति भी मिली। चार साल पहले भारतीय सेना से रिटायर्ड होकर अब वह सुबह 4 बजे जागकर युवाओं को बॉक्सिग सिखा रहे हैं।

कैप्टन गिरधारी ने बतौर सेनिक कौर ऑफ सिंगल्स में अपनी (Karauli Retire Girdhari Boxer)  सेवाएं दी हैं। उन्होंने 3 साल की नौकरी के बाद बॉक्सिंग में अपना लक्ष्य साधा और अपने हुनर का लोहा मनवाया। इस बीच वह कई बार चोटिल भी हुए, मगर उनका जुनून कम नहीं हुआ। खास बात है कि कैप्टन गिरधारी के गुरु, सेना के कोच एस जयराम रहे हैं, जो विशिष्ट अर्जुन अवार्ड से सम्मानित हुए थे। वहीं खुद कैप्टन कोर सिंगल्स- 1 एसटीसी के कप्तान पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम (APJ Abdul Kalam) से भी प्रशंसा-पत्र पा चुके हैं। साल 2014 में भारतीय सेना अध्यक्ष और विक्रम सिंह एवं 2018 में भारतीय सेना अध्यक्ष  बिपिन रावत ने भी कैप्टन की बॉक्सिंग को लेकर सराहना की है।

कैप्टन गिरधारी करौली जिले के एकमात्र नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्टस के ट्रेनर कोच हैं। इसी कारण भारत सरकार (Bharat Sarkar) द्वारा आयोजित खेलो इंडिया कार्यक्रम (Khelo India Karyakram) के तहत राजस्थान, ओड़िसा, मध्य प्रदेश सहति देश भर में आयोजित होने वाली बॉक्सिंग प्रतियोगिता में तकनीकी अफसर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। देश में अब तक तकरीबन 60 से भी अधिक खेल प्रतियोगिताओं में वह कोच के रूप में हिस्सा ले चुके हैं।

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि