Connect with us

राजस्थान

Rajasthan By Election :- उपचुनाव में कांग्रेस की बड़ी जीत,दोनो सीट पर जनता हाथ के साथ

Published

on

by election result

राजस्थान में 30 अक्टूबर को हुए उपचुनाव (By Election) के नतीजे आ गए हैं। 30 अक्टूबर को राजस्थान (Rajasthan By Election) की 2 सीट धरियावाद (Dhariyawaad) और वल्लभनगर (Vallabhnagar) पर उपचुनाव हुए थे। जानकारी के लिए बता दें तो वल्लभनगर से गजेंद्र सिंह शक्तावत कांग्रेस के विधायक थे और वही धरियावाद से बीजेपी के गौतम लाल मीणा विधायक थे। कोरोना वायरस होने से दोनों विधायकों की मृत्यु हो गई थी जिसकी वजह से यह सीट खाली हुई थी। उसके बाद 30 अक्टूबर को दोनो सीट पर उपचुनाव करवाए गए। उपचुनाव के नतीजों की बात करें तो वल्लभनगर और धरियावाद दोनों ही सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है।

यह है धरियावाद सीट के नतीजे

धरियावाद की बात करें तो कांग्रेस प्रत्याशी नगराज मीणा (Naagraj Meena) नहीं यहां 18725 वोटों से जीत हासिल की है। इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी नगराज मीणा को 69819 वोट मिले। वहीं निर्दलीय उम्मीदवार थावरचंद (Thavarchand)  को 51094 वोट मिले। बीजेपी के खेत सिंह मीणा (Khet Singh Meena) को यहां से 46487 वोट मिले हैं। वहीं क्षेत्र की जनता ने नोटा को 3230 वोट दिए हैं।

जीत के बाद क्या बोले नागराज मीणा

धरियावाद सीट से जीतने के बाद नगराज मीणा ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हमारे लिए हर जीत बड़ी जीत होती है। मेरी यह जीत एकतरफा जीत रही,उन्होंने कहा कि जनता के आशीर्वाद से ही मुझे जीत प्राप्त हुई है। जनता ही मेरे लिए सब कुछ, उन्होंने कहा कि अब जीतने के बाद आगे जनता से किए गए वादों को पूरा करने का पूरा प्रयास करूंगा। साथ ही नगराज मीणा ने विधानसभा चुनाव 2023 (Rajasthan Vidansabha Election 2023) को लेकर भी भविष्यवाणी की और कहा कि जिस तरीके से उपचुनाव में जनता ने कांग्रेस पर भरोसा जताया है उसी तरीके से राज्य में भी 2023 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जीत कर वापस लौटेगी। वही मंत्री बनने को लेकर नागराज राज मीणा ने कहा कि हाई कमीशन और पार्टी उनके लिए जो भी फैसला लेगी वह कार्य होगा। अभी राज्य में हमारी सरकार है और हमें जनता के लिए काम करना है।

यह है वल्लभनगर सीट के नतीजे

बात करें वल्लभनगर सीट की तो इस सीट से कांग्रेस प्रत्याशी प्रीति गजेंद्र सिंह शक्तावत (Preeti Gajender Singh Shaktawat) को 65713 वोट मिले। दूसरे नंबर पर हनुमान बेनीवाल की पार्टी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP Canditate) के उम्मीदवार उदय लाल डांगी (Udailal Dangi) रहे और उन्हें 45107 वोट मिले। तीसरे नंबर पर निर्दलीय उम्मीदवार रणधीर सिंह भींडर (Randhir Singh Bhindar) रहे और उन्हें कुल 43817 वोट मिले। भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार हिम्मत सिंह झाला (Himmat Singh Jhala) को 21433 वोट मिले,और वह चौथे नम्बर पर रहे। क्षेत्र की जनता ने नोटा को 2112 वोट दिए।

जीत के बाद क्या बोली प्रीति शक्तावत

वल्लभनगर में जीत के बाद विधायक बनी प्रीति शक्तावत ने कहा कि की क्षेत्र की जनता ने उन्हें यह जीत दिलाई है। प्रीति शक्तावत ने अपनी जीत के लिए लोगों का धन्यवाद किया और कहा कि लोगों ही उन्हें आगे लेकर आए हैं। प्रीति ने क्षेत्र की जनता को अपना परिवार बताया उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र का हर एक व्यक्ति मेरा परिवार है। मैं यह जीत उन्हें समर्पित करती हूं। प्रीति शक्तावत ने जीत के बाद कहा कि लोगों ने अपना चुनाव समझ कर मतदान किया और मुझे यह जीत दिलाई। साथ ही उन्होंने अपने दिवगंत पति गजेंद्र सिंह शक्तावत को भी याद किया। प्रीति शक्तावत ने कहा कि जिस तरीके से जनता ने उन पर विकास का विश्वास जताया था। वह भी इसी विश्वास पर खरी उतरने का पूरा प्रयास करेंगी।

क्यों खास थी यह जीत

उपचुनाव में दोनों विधानसभा सीट पर जीत के साथ ही कांग्रेस कि राज्य में विधानसभा में 1 सीट भी बढ़ गई है। वही इन दोनों सीटों पर कांग्रेस के लिए जीतना जरुरी था। इसका बड़ा कारण यह था कि लगातार कांग्रेस  दो गुटों में बटती जा रही है। यह जीत इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने भी दोनों सीटों पर एक दर्जन से ज्यादा सभाएं की थी। वही पूरी ताकत के साथ अशोक गहलोत ने इन चुनावों में जीतने के लिए अपनी पार्टी का प्रचार किया था। वल्लभनगर विधानसभा सीट कांग्रेस का गढ़ माना जाता है लेकिन धरियाबाद जीत के साथ ही कांग्रेस ने वहा भी अपना दावा पेश किया हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >