Connect with us

राजस्थान

अब सरकार कराएगी फ्री में कोचिंग, सरकारी नौकरी की तैयारी करने वालों के लिए वरदान

Published

on

राजस्थान में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थी अब आर्थिक तंगी जैसे कारणों से परेशान होकर तैयारी से वंचित नहीं रहेंगे। राज्य सरकार की तरफ से इन विद्यार्थियों के लिए विभिन्न प्रोफेशनल कोर्स एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए ‘मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना’ की शुरूआत की गई है।

सीएम की इस योजना की मदद से आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढऩे के अवसर मिलने के साथ ही आगे नौकरियों में फायदा मिलेगा।

आपको बता दें कि सरकार के जनजाति विकास विभाग की ओर से चिकित्सा एवं तकनीकी प्रवेश परीक्षाओं के लिए कोचिंग योजना एवं सामाजिक न्याय-अधिकारिता विभाग और अल्पसंख्यक विभाग की ओर से अनुप्रति योजना वर्ष 2005 में की गई थी जिसके जरिए आर्थिक मदद 1 साल तक मिलती है।

अब इसी योजना को नए सिरे से ‘मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना’ के नाम से चलाया जाएगा।

कौन ले सकता है योजना का लाभ?

सरकार की इस योजना के तहत राज्य के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विशेष पिछड़ा वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं सामान्य वर्ग के बीपीएल परिवारों के छात्र (जिन्होंने अंतिम परीक्षा में 85% अंक हासिल किए हों) के आर्थिक सहायता ले सकते हैं।

वहीं इन छात्रों के परिवार की सलाना आय 8 लाख रुपए से कम होना भी अनिवार्य शर्त है। इसके अलावा ऐसे विद्यार्थी जिनके माता-पिता राज्य सरकार कर्मचारी के तौर पर पे-मेट्रिक्स लेवल-11 तक वेतन लेते हैं वह भी इस योजना के लिए पात्र होंगे।

कौनसी परीक्षाओं के लिए कितनी सहायता मिलती है?

अनुप्रति योजना के तहत विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाएं जैसे भारतीय सिविल सेवा, राजस्थान सिविल सेवा, आईआईटी, आई आई एम, सीपीएमटी, एनआईटी एवं राजकीय इंजीनियरिंग एवं मेडिकल आदि की तैयारी के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

परीक्षा के हिसाब से देखें तो योजना के तहत सिविल सेवा परीक्षा के लिए ₹100000 की प्रोत्साहन राशि जो प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने पर ₹65000 और मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने पर ₹30000 तथा साक्षात्कार  उत्तीर्ण करने पर ₹5000 की किश्तों में दी जाएगी।

वहीं राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवा संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा के लिए ₹50000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके अलावा तकनीकी शिक्षा हासिल करने के लिए शिक्षण संस्थान में प्रवेश परीक्षा में सफल होने के लिए ₹50000 की मदद दी जाएगी।

कैसे किया जाएगा योग्य छात्रों का चयन

1. योजना का लाभ लेने के लिए छात्रों का चयन 12वीं और 10वीं के अंकों के आधार पर किया जाएगा।

2. संबंधित विभाग जिले के अनुसार विद्यार्थियों का चयन कर उनके इलाके में कोचिंग की व्यवस्था करेंगे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >