Connect with us

सीकर

राजस्थानी संस्कृति और संस्कारों से जुडी आईएएस मोनिका यादव की कहानी जो सबके लिए है एक प्रेरणा

Published

on

आज आपको कहानी बताएंगे राजस्थान की रहने वाली आईएएस मोनिका यादव की। कहा जाता है कि जब जब बच्चे सामान्य माहौल से आधुनिकता की चकाचौंध में जाते है तो कई बार संस्कृति, सभ्यता व संस्कारों को भूल जाते है लेकिन इन सब को झूठा साबित किया मोनिका यादव ने, मोनिका यादव राजस्थान की रहने वाली है। वह अपनी संस्कृति को आज तक नहीं भूली है।

मोनिका यादव राजस्थान सीकर जिले के श्रीमाधोपुर तहसील के गांव लिसाडिया की रहने वाली है। उनके पिता हरफूल सिंह यादव भी सीनियर आरएस अफसर है और इस समय राजस्थान यूनिवर्सिटी में रजिस्ट्रार के पद पर कार्यरत हैं।

मोनिका ने साल 2017 में यूपीएससी का एग्जाम पास किया,उन्होंने 403 रैंक हासिल की। उसके बाद मोनिका को भारतीय रेलवे ट्रांसपोर्ट सेवा का कैडर मिला। साल 2020 में दिसंबर के महीने में मोनिका ने अपनी ट्रेनिंग पूरी की है, इसके बाद उनकी कोटा में पोस्टिंग हो गई है।

पति भी हैं आईएएस अफसर

मोनिका यादव के पति सुशील कुमार यादव नारनौल के रहने वाले हैं और वह भी एक आईएएस अफसर है। सुशील राजसमन में कार्यरत है।

फोटो हुई जमकर वायरल

मोनिका यादव के यहां मार्च 2020 में बेटी का जन्म हुआ। जिसके बाद मोनिका और उनकी नवजात बच्चे की तस्वीर सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हुई। इसके पीछे का कारण यह था कि मोनिका ने अपनी बच्ची को गोद में लिया हुआ था और राजस्थान की संस्कृति और वेशभूषा में मोनिका नजर आ रही थी। फोटो के साथ लिखा हुआ था कि यह आईएएस अफसर मोनिका यादव है,जो अफसर बनने के बाद भी अपनी संस्कृति को नहीं भूली हैं।

इसी के चलते उनकी फोटो सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हुई। मोनिका के पिता हरफूल यादव बताते हैं कि मोनिका जब भी गांव आती है तो अपनी संस्कृति को नहीं भूलती। वह आज भी देसी अंदाज में ही रहती हैं और गांव की बच्ची और पढ़ने वाले सभी विद्यार्थियों को यूपीएससी एग्जाम के लिए प्रेरित करती हैं। उन्हें टिप्स भी देती है।

वाकई मोनिका अफसर बनने के बाद भी अपनी संस्कृति को नहीं भूली है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >