सीकर: घरवाले समझते थे सनकी लेकिन फिर दिखाया ऐसा कारनामा कि राष्ट्रपति ने भी किया सम्मानित!

Sikar Jugadu Engineer Sharwan: श्रवण जुगाड़ू इंजीनियर दातारामगढ़ सीकर
*************************************

शिक्षा से तो डिग्री मिलती है,
हुनर, हौसले और जज्बे का।
ना कॉलेज देश-विदेश को देखा,
दसवीं पास है यह कस्बे का।

जुगाड़ू इंजीनियर का नया करिश्मा
*****************************
दोस्तों नमस्कार!
दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसे शख्स से रूबरू करवा रहा हूं, जिसने बिना कॉलेज देखे, बिना इंजीनियरिंग की डिग्री के, बिना किसी के अंडर में काम सीखे,ऐस ऐसे किसानी उपकरण तैयार कर दिए। जिन्हें देखकर आप भी दंग रह जाएंगे। हम बात कर रहे हैं एक ऐसे होनहार युवक की, जिसने महज दसवीं क्लास तक ही पढ़ाई की है मगर उसके उपकरण देश-विदेश में तहलका मजा रहे हैं।

परिचय।
*********
सीकर (Sikar) जिले के दातारामगढ़ (Dataramgarh) कस्बे के रहने वाले श्रवण जी किसी परिचय के मोहताज नहीं है। उन्होंने हमारी संवाददाता खुशबू जी से बातें करते हुए अपनी जीवनी के बारे में विस्तार पूर्वक बात बताई। उन्होंने बताया की घरेलू परिस्थितियों को देखते हुए मैंने मेरी पढ़ाई को दसवीं के बाद में विराम लगा दिया। पानी की कमी होने के कारण मैंने कुआं खुदाई का काम शुरू किया। उस कार्य को करते हुए मेरे एक साथी की मौत हो गई, तो मैंने वह काम भी छोड़ दिया।

दुकान का काम।
**************

Sikar Jugadu Engineer Sharwan

आर्थिक परिस्थितियां मेरे सामने मुंह फैलाए खड़ी थी। तो मुझे कुछ काम तो करना ही था, इसलिए मैंने बाइक रिपेयरिंग की दुकान खोली।क्योंकि मेरा दिमाग रात दिन उसी लाइन में चलता था। खेती के काम करने का मेरे ऊपर दबाव रहता था, और दुकान में भी मुझे फुर्सत नहीं मिलती थी। इसलिए मैंने दुकान में जब भी फुर्सत मिलती तो निराई गुड़ाई की मशीन बनाने का काम शुरू किया,और सफल हो गया। उसमें थोड़ी मेहनत तो होती थी लेकिन एक दिन में चार व्यक्तियों का वह काम करती थी।
श्रवण जी बताते हैं कि मैंने जो निराई गुड़ाई की मशीन दस साल पहले बनाई थी वह आदमी को चलानी पड़ती थी।उसमें कुछ ज्यादा ताकत लगती थी। तब मैंने उसको इंजन के द्वारा बनाने का काम शुरू किया। जो चार साल बाद में बन कर कंप्लीट हुई।उस समय इस मेरे काम को मेरे गुरु सुंडा राम जी वर्मा,जिनको पिछले वर्ष पदम श्री से पुरस्कृत किया गया था, उनका मेरे ऊपर पूरा हाथ था। उन्होंने मेरी फाइल बनाकर आगे दी और मेरा लेख मैगजीन में छपा।

सनकी और पागल।
****************
घरवालों के अलावा आस-पड़ोस के सब लोग मुझे सनकी व पागल कहने लगे। लेकिन मैं मेरी धुन के साथ मेरे काम में लगातार आगे बढ़ता रहा। मैगजीन में लेख छपने के बाद में मेरा हौसला सातवें आसमान पर था, और मेरा दिमाग भी ज्यादा चलने लग गया।

मशीन बनाना।
*************
श्रवण जी ने बताया कि मैं सुंडा राम जी के साथ में अहमदाबाद एक इन्नोवेशन मीटिंग, जो अब्दुल कलाम के द्वारा ली जा रही थी,में एक प्याज खोदने की मशीन का छायाचित्र बनाकर ले गया।और वह ड्राइंग मेरी पास होगई, जिसके लिए मुझे वह मशीन बनाने के लिए तीन लाख रु दिए गए। उन्होंने बताया कि मुझे प्याज खोदने वाली मशीन पर ₹350000 का अवार्ड 2017 में मिला। उससे मैंने मेरा कर्जा उतारा और मुझे आगे काम करने का मेरा मनोबल भी बढ़ा।
मैंने आज तक 700 से 800 के लगभग मशीनें बेची है। जैसी किसानों की आवश्यकता थी उसी के अनुसार मैने मशीनें बनाकर किसान को दी है। जो मशीन बाजार में अवेलेबल नहीं होती थी वह मशीन मैं बनाता था।

राष्ट्रपति पदक।
*************
श्रवण जी बताते हैं कि मुझे 2017 में प्याज खोदने की मशीन बनाने के उपलक्ष में माननीय राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा सम्मानित किया गया। मेरा चयन इन्नोवेशन अवॉर्ड हेतु होने पर मुझे ₹ दस लाख का पुरस्कार मिला था। जिसमें निराई गुड़ाई मशीन जो बैटरीसे चलती है उसके लिए मेरा चयन हुआ था। उसके ऊपर आज भी काम चल रहा है जो सोलर सिस्टम से चलाई जाएगी।
इसके अलावा 2019 में मुझे महिंद्रा स्मृति अवार्ड से सम्मानित किया गया। जिसके लिए माननीय राष्ट्रपति रामनाथजी कोविंद के दो दिन मेहमान बन कर रहे थे। उन्होंने बताया कि मैंने अभी एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी खोली है, जिसके लिए 2500000 रुपए पास हो गए हैं। मेरी मशीनों की विदेशों में भी मांग है, जिसके लिए मुझे बड़ा गर्व महसूस होता है।

अन्य।
******
माता पिता का पहले तो सहयोग नहीं मिला लेकिन अब मुझ पर बड़ा गर्व महसूस करते हैं। Sikar Jugadu Engineer Sharwan

अपने विचार।
************
जज्बा जुनून और लग्न साथ में,
नए नए जो काम करें।
मकसद जिसका आगे बढ़ने का,
वही दुनिया में नाम करें।

विद्याधर तेतरवाल,
मोतीसर।

पूरा इंटरव्यू देखें…

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि