Connect with us

राजस्थान

अनोखी शादी : दूल्हा-दुल्हन को पिंजरे में कैद कर दिलवाए फेरे, हर कोई कर रहा इस शादी की चर्चा

Published

on

आप उम्र के किसी पड़ाव में कभी दोस्त, करीबी किसी की शादी में शरीक हुए होंगे या आपको खुद की शादी का भी अनुभव होगा लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि एक ऐसी शादी के बारे में जहां दूल्हा और दुल्हन मंडप में पिंजरे में बंद हों।

यह सुनकर हो गए ना हैरान, आइए बताते हैं आपको पूरा माजरा। राजस्थान के हाड़ौती संभाग के आदिवासी बहुल इलाके बारां में हाल में ऐसी ही एक अजीबोगरीब शादी हुई जिसमें दूल्हा-दुल्हन को पिंजरे में बंद करके रखा गया.

बारिश लाने के लिए की जाती है ऐसी शादी

चलिए आपकी हैरानी को अब दूर करते हैं, दरअसल यह शादी एक मेंढक और मेंढकी की थी जिसे अधिकांश आदिवासी इलाकों में लोग इन्द्रदेव को रिझाने के लिए और बारिश आने की कामना के लिए टोटके के तौर पर करते हैं।

यह टोटके वाली शादी बीते मंगलवार को अटरू तहसील के परवन नदी के किनारे स्थित चौथ्या और मायथा गांव के बीच हुई। इस टोटके वाली शादी में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे और पूरे रीति रिवाज और मंत्रोंच्चार के साथ यह शादी संपन्न हुई।

मंडप भी सजा और बारात भी आई

मेंढक-मेंढकी की शादी में गांव वालों ने सारे रीति-रिवाज पूरे किए। इस दौरान मेंढ़की के गांव वालों ने मंडप सजाया और बाराती पिंजरे में कैद कर मेढ़क दूल्हे को लेकर आए। महिलाएं इस दौरान मंगल गीत गा रही थी।

सालों से हो रही है मेंढक-मेंढकी की शादी

गांव वालों का मानना है कि आषाढ़ माह खत्म होने वाला है लेकिन अभी तक फसलों के मुताबिक बारिश नहीं हुई है। ऐसे में हर साल की तरह इस बार भी किसानों ने बारिश के लिए यह टोटका किया।

आदिवासी इलाकों में आज भी किसी समस्या के लिए कई टोटकों का सहारा लिया जाता है, मेंढ़क-मेढ़की की शादी भी उनमें से एक है जिसको लेकर गांव वालों में काफी जोश रहता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >