उत्तर प्रदेश में नीम के पेड़ के नीचे बना विश्व का एकमात्र कोरोना माता का मंदिर,उमड़ी जबरदस्त भीड़

हिंदुस्तान विभिन्न अवस्थाओं वाला देश है लेकिन आस्थाओं के साथ कई बार यहां अं’ध विश्वास जैसी चीजों के मामले भी सामने आते हैं। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में सांगीपुर थाने के शक्ल पुर गांव में भी ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां ग्रामीण लोगों ने चंदा इकट्ठा करके कोरोना माता का मंदिर बनवा दिया है।पूरे मामले की बात करें तो इस गांव में पिछले दिनों कोरोनावायरस से 3 लोगों की मौ’त हो गई थी। इसके बाद कुछ लोगों को कोरोनावायरस भी हो गया था।

 

ठीक होने वाले लोगो ने कोरोना माता का मंदिर बनाने का निर्णय किया था। जिसके बाद ग्रामीणों ने चंदा जुटाकर के कोरोनामाता का मंदिर तैयार किया था। नीम के पेड़ के नीचे तैयार इस माता के मंदिर में कोरोना की प्रतिमा भी लगाई गई थी।

विधि विधान से करते है पूजा

वही दावा किया गया कि कोरोना माता की पूजा अर्चना करने से गांव में कोरोनावायरस नहीं फैल रहा है। वही ऐसा मामला भी सामने आया जहां लोग माता के मंदिर में अगरबत्ती,प्रसाद, जल चढ़ाकर के विधि विधान से पूजा करते हुए नजर आ रहे है। आपको बताएं इस गांव के अलावा भी दूर दराज से लोग माता के मंदिर में पूजा अर्चना करने के लिए आ रहे है। ग्रामीणों ने दावा किया है कि माता की पूजा करने से बीमारी नहीं फैलेगी।

ऐसी है मूर्ति : 

कोरोना माता की मूर्ति के बारे में बात करें तो ग्रामीणों द्वारा जो प्रतिमा लगाई गई है,उस प्रतिमा में माता ने मास्क लगा रखा है। इसके अलावा हाथ धोते हुए भी मूर्ति नजर आ रही है। इसके अलावा कोरोना से बचने के लिए दिशा निर्देश का भी संदेश देती हुई माता की मूर्ति नजर आ रही है। इसके अलावा कुछ ग्रामीणों ने इसे अं’ध विश्वास का केंद्र माना है।

इस खबर पर आपकी क्या राय है कमेंट बॉक्स में जरूर बताये

Add Comment

   
    >
राजस्थान की बेटी डॉ दिव्यानी कटारा किसी लेडी सिंघम से कम नहीं राजस्थान की शकीरा “गोरी नागोरी” की अदाएं कर देगी आपको घायल दिल्ली की इस मॉडल ने अपने हुस्न से मचाया तहलका, हमेशा रहती चर्चा में यूक्रेन की हॉट खूबसूरत महिला ने जं’ग के लिए उठाया ह’थियार महाशिवरात्रि स्पेशल : जानें भोलेनाथ को प्रसन्न करने की विधि