Connect with us

उत्तर प्रदेश

दिव्यांग मां चीखती चिल्लाती रही, कोई नहीं आया मदद को सामने, दिल दहला देने वाला मामला

Published

on

कोरोना के चलते इस समय देश में हाहाकार मचा हुआ है। कोरोनावायरस से संक्रमित होने पर रिश्तेदार,पड़ोस तो छोड़िए परिवार वाले भी पास आने से कतरा रहे हैं।
उत्तरप्रदेश से एक ऐसी ही घटना सामने आई,जो इस बात का उदाहरण बन गई कि इंसान की मजबूरी में उसका साथी कोई नही होता। उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक मामला सामने आया हैं, एक दिव्यांग महिला के सामने उसके पति और बेटे ने द’म तोड़ दिया और वह कुछ नही कर पाई।

पूरे मामले की बात करे तो मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कृष्णा नगर थाना क्षेत्र के एलडीए कॉलोनी सेक्टर C1 का है। जहां के निवासी अरविंद गोयल(65),उनकी पत्नी रंजना गोयल(60) और पुत्र ईत्र गोयल (25) रहते हैं। परिवार के तीनों सदस्यों को कुछ समय पहले कोरो लना ने अपनी ग्रस्त में ले लिया। तीनों सदस्य कोरोना संक्रमित पाए गए इसके बाद सभी परिवार के सदस्यों को होम आइसोलेशन के लिए घर में ही रखा गया।

दिव्यांग पति पत्नी और उनका बेटा तीनो लोग अलग-अलग कमरों में आइसोलेट थे। एक दिन पत्नी को यह आभास हुआ कि उसके पति और उसके बेटे की ना ही कोई आवाज आ रही है न ही घर में कुछ गतिविधियां हो रही हैं।जिसके बाद पत्नी बेटे और पति के कमरे के आसपास जाकर देखा तो वह दोनों ना तो हिल रहे थे ना ही बोल रहे थे। जिसके बाद पत्नी ने दरवाजे के आस पास जाकर बहुत आवाज लगाई, चीखी चिल्लाई लेकिन उसकी मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया।

आखिर में मदद की गुहार लगाते हुए वह अपने पति और बेटे पास ही बैठ गई। बाद में घर से बदबू आने पर पड़ोसियों को थोड़ा शक हुआ और उन्होंने पुलिस को फोन कर दिया। जब पुलिस दिव्यांग पति-पत्नी के घर के पास पहुंची तो अंदर से ताला बंद था। दरवाजे को तोड़कर पुलिस ने जब अंदर देखा तो सबकी आंखें फटी की फटी रह गई सामने दो श’ व पड़े थे और पास में एक औरत अधमरी हालात में थी। पुलिस ने दोनों श’ वों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पूछताछ में पड़ोसियों ने बताया कि 4 दिन पहले अरविंद गोयल को घर के अंदर लोगों ने टहलते हुए देखा था। लोगो ने बताया कि कोरोनावायरस महामारी की वजह से सभी के अंदर डर का माहौल है और आसपास का पूरा एरिया सुनसान रहता है।

पुलिस निरीक्षक ने बताया कि उनके परिवार के किसी अन्य सदस्य के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है जिसकी वजह से पुलिस ही दोनों शवों का अंतिम संस्कार कर रही है। वहीं पुलिस निरीक्षक नहीं बताया महिला को उपचार के लिए लोक बंधु अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >