Connect with us

उत्तर प्रदेश

भगवा शेर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ी ऐसी 50 चौंकाने वाली बातें जो आप नहीं जानते

Published

on

yogi adtiyanath biography

(1) जिन्हें हम योगी आदित्यनाथ के नाम से जानते हैं उनका असली नाम अजय सिंह बिष्ट है।

(2) योगी आदित्यनाथ का जन्म उत्तराखंड के पौड़ी जिले के पंचूर गांव में 5 जून वर्ष 1972 को एक क्षत्रिय परिवार में हुआ। योगी आदित्यनाथ ने गढ़वाल यूनिवर्सिटी से गणित में बीएससी(Bsc) की है।

image not found

(3) योगी आदित्यनाथ अपने चार भाई और तीन बहनों में दूसरे नंबर पर है। उनके 2 भाई कॉलेज में नौकरी करते हैं जबकि एक भाई भारतीय सेना की गढ़वाल रेजीमेंट में सूबेदार के पद पर है।

(4) स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद अजय सिंह बिष्ट ने 22 साल की उम्र में परिवार त्याग दिया और सन्यासी बन गए।

(5) योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर के पूर्व महन्त अवैद्यनाथ  से मिलकर माँ से इजाजत लेने घर गए थे। मां ने सोचा बेटा नौकरी करने जा रहा है इसलिए मां ने इजाजत दे दी थी।

(6) सन्यास लेने के 6 महीने बाद परिवार को पता चला कि उनका बेटा अजय सिंह बिष्ट अब योगी आदित्यनाथ बन चुका है।

(7) योगी के बड़े भाई मानवेंद्र मोहन सिंह बिष्ट उनसे 2 साल बड़े हैं लेकिन वह भी योगी आदित्यनाथ को महाराज जी कहकर बुलाते हैं।

(8) योगी आदित्यनाथ संन्यास के बाद तीन-चार बार घर गए हैं वर्ष 1999 और 2013 में भाइयों की शादी में वह अपने घर गए थे।

(9) छात्र जीवन से ही राजनीति के तरफ योगी आदित्यनाथ का झुकाव था। इसलिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से भी जुड़े। लेकिन एबीवीपी ने उन्हें चुनाव लड़ने के लिए टिकट नहीं दिया था।

(10) छात्र जीवन के दौरान योगी आदित्यनाथ कुछ वक्त उत्तराखंड के कोटद्वार में किराए पर रहे थे, उस दौरान उनके कमरे में चोरी हो गई थी।जिसमें उनके सर्टिफिकेट भी चोरी हो गए थे। सैटिफिकेट चोरी हो जाने के कारण योगी आदित्यनाथ एमएससी(Msc) की डिग्री नहीं कर पाए।

(11) बीएससी से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने गोरखपुर में गुरु गोरखनाथ पर रिसर्च शुरू किया। रिसर्च के दौरान ही वे गुरु गोरखनाथ के महन्त अवैद्यनाथ के करीब आए।

(12) महन्त अवैद्यनाथ के साथ रहते  हुए ही उनका अध्यात्म की और झुका हुआ। महन्त अवैद्यनाथ ने ही अजय सिंह बिष्ट को योगी आदित्यनाथ नाम दिया।

(13) 15 फरवरी वर्ष 1994 को महंत अवैद्यनाथ ने उन्हें नाथ संप्रदाय की योग दीक्षा देकर अपना शिष्य बनाया।

(14) आध्यात्मिक पिता महन्त अवैद्यनाथ के देह त्यागने के बाद सितंबर 2014 में योगी को गोरखपुर गोरखनाथ पीठ का महंत बनाया गया।

(15) महंत रहते अवैद्यनाथ भी राजनीति में सक्रिय थे। वह भी बीजेपी के सांसद रहे थे। 1998 में राजनीति छोड़ने पर उन्होंने योगी आदित्यनाथ को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था।

(16) योगी आदित्यनाथ के पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट है जो एक फारेस्ट रेंजर थे, 20 अप्रैल 2020 को उनके पिता की  मृत्यु हो गयी।

(17) योगी आदिनाथ के पिता योगी को अपना बेटा कहते थे, लेकिन लोकसभा की वेबसाइट में योगी आदित्यनाथ के परिचय में उनके पिता के नाम के स्थान पर स्वर्गीय महन्त अवैद्यनाथ नाम लिखा है।

(18) आदित्य नाथ गोरक्ष पीठ की पांचवी पीढ़ी के महंत हैं।

(19) योगी ने आज तक शादी नहीं की क्योंकि कोई सन्यासी सन्यास लेने के बाद ऐसा नहीं कर सकता, इसलिए वह अपने परिवार के साथ नहीं रहते हैं।

(20) योगी आदित्यनाथ वर्ष 1998 में 12 वीं लोकसभा में 26 साल की उम्र में सबसे कम उम्र के सांसद चुने गए, इसके बाद से लगातार वो पांचवीं बार गोरखपुर के सांसद चुने गए है।

(21) योगी शुरू से ही बीजेपी की राजनीति में रहे, उन्होंने 2002 में अपना हिंदू युवा वाहिनी नामक संगठन  बनाया जिसने बीजेपी से अलग यूपी में चुनाव भी लड़ा था।

(22) योगी राजनीति के अलावा धर्म और समाजसेवा में भी सक्रिय रहते हैं। करीब 20 से अधिक सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं के अध्यक्ष भी हैं योगी।

(23) योगी आदित्यनाथ हमेशा गेरुआ वस्त्र धारण करते हैं। उमा भारती के बाद योगी भारत के दूसरे मुख्यमंत्री हैं जो गेरुआ वस्त्र धारण करते हैं।

(24) योगी आदित्यनाथ कानों में सोने का कुंडल पहनते हैं। जो कि अष्टधातु से बना हुआ है। एक सोने की चैन में रुद्राक्ष की माला भी पहनते हैं। इसके साथ ही कभी-कभी उन्हें काले चश्मे भी देखा जाता है।

(25) आदित्यनाथ सुबह 3:00 बजे उठ जाते हैं रात को लगभग 11:00 बजे तक सो जाते हैं सुबह 4:00 से 5:00 बजे तक योगा करते हैं और फिर भगवान की पूजा करते हैं।

(26) गोरखनाथ मंदिर परिसर में बड़ी संख्या में गाय, बतख, मछलियां और कुत्ते रहते हैं सब को दाना और चारा खिलाने का काम आदित्यनाथ खुद करते हैं जब भी वह गोरखपुर में रहते हैं।

image not found

(27) योगी रोज सुबह 8:00 बजे नाश्ते में दलिया, चना और मौसमी फल खाते हैं। वे नाश्ते में सूखे मेवे और सेब, पपीता का भी सेवन करते है।

(28) योगी आदित्यनाथ अक्सर दोपहर का भोजन नहीं करते हैं। वे रात को 4 चपाती, एक कटोरी दाल, खीर और हरी सब्जी का सेवन जरूर करते हैं। और सोने से पहले एक गिलास दूध जरूर पीते हैं।

(29) गोरखनाथ मंदिर परिसर में योगी आदित्यनाथ का जनता दरबार लगता है, जिसमें योगी लोगों की समस्याएं सुनते हैं और लोगों की हर संभव मदद करते हैं।

(30) योगी को वैसे कट्टर हिंदूवादी माना जाता है। लेकिन उनके गोरखनाथ मंदिर के आसपास काफी मुस्लिम रहते हैं यहां तक कि उनका एक रसोईया भी मुसलमान है।

(31) गोरखनाथ में योगी का कहना ही अपने आप में कानून हैं। दिवाली और होली जैसे बड़े त्योहारों को भी योगी के कहने पर गोरखनाथ में अगले दिन मनाया जाता है।

(32) 2017 लोकसभा चुनाव में दिए गए हलफनामे में योगी ने बताया है कि उनके पास कुल 95 लाख 98 हजार 53 रुपये  की चल अचल संपत्ति है।

(33) योगी के पास वाहनों में एक टाटा सफारी, टोयोटा इनोवा और फॉर्च्यूनर भी है।

(34) योगी आदित्यनाथ के पास अपने नाम पर ना ही कोई जमीन है और ना ही कोई मकान। उत्तराखंड में रहने वाले परिवार की कोई संपत्ति पर भी योगी का नाम नहीं है।

(35) योगी आदित्यनाथ के सोने के कान के कुंडल का भार 20 ग्राम है जिसकी कीमत 49000 रुपये हैं।

(36) योगी आदित्यनाथ के पास एक लाख की रिवाल्वर और 80000 रुपये की के राइफल भी है।

(37) योगी के पास एक स्मार्टफोन भी है जिसकी कीमत 18000 रुपये है।

(38) योगी आदित्यनाथ अपने विचार व्यक्त करने में कभी पीछे नहीं रहते, योगी 2015 में अभिनेता शाहरुख खान की तुलना पाकिस्तानी आतंकवादी हाफिज सईद के साथ कर चुके हैं।

(39) 7 सितंबर 2008 में योगी आदित्यनाथ पर आजमगढ़ में जानलेवा हमला हुआ था इस हमले में वह बाल-बाल बचे थे। यह हमला इतना बड़ा था कि सौ से भी अधिक वाहनों को हमलावरों ने घेर लिया और लोगों को लहूलुहान कर दिया।

image not found

(40) इस हमले का जिक्र कर योगी आदित्यनाथ संसद में रो पड़े थे और अपनी जान को खतरा बताया था।

(41) जब 2007 में गोरखपुर में दंगे हुए थे तब योगी आदित्यनाथ को मुख्य आरोपी बनाया गया और उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी।

(42) योगी आदित्यनाथ मां दुर्गा के भक्त हैं

(43) योगी अष्टमी के दिन शस्त्र पूजन भी करते हैं

(44) योगी आदित्यनाथ धर्मांतरण के खिलाफ और घर वापसी के लिए काफी चर्चा में रहते है। 2005 में योगी आदित्यनाथ ने कथित तौर पर 1800 ईसाइयों का शुद्धीकरण कर हिन्दू धर्म में शामिल कराया।

(45) योगी आदित्यनाथ ने  19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली।

(46) योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बनने के बाद लखनऊ के 5 कालिदास मार्ग स्थित आवास में रहते हैं।

(47) आदित्यनाथ बिना एसी वाले कमरे में सोते हैं।

(48) नेपाल से भी योगी का बड़ा नाता है भारत से जाकर नेपाल में रहने वाले मद्धेशिया में योगी का बड़ा सम्मान है।

(49) योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में कई मोहल्ले के नाम बदल चुके हैं।

(50) उर्दू बाजार को हिंदी बाजार, अलीनगर को आर्य नगर और मियां बाजार को अब माया बाजार के नाम से जाना जाता है, तथा इलाहाबाद भी अब प्रयागराज के नाम से जाना जाता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
    >